बालाघाट : उद्घोषो के साथ हुआ कन्हैया की प्रतिमाओ का विसर्जन

बालाघाट। वर्तमान समय में कोरोना महामारी से एक ओर लोगो का जनजीवन प्रभावित हुआ है वहीं दूसरी ओर धार्मिक आयोजनो में भी खासा प्रभाव पड़ा है। त्यौहारो का दौर जारी हो चुका है। इसी कड़ी में १२ अगस्त को लोगो ने जन्माष्टमी का पर्व धूमधाम के साथ मनाया गया और भगवान कृष्ण जन्माष्टमी में यह आयोजन हर साल की तरह भव्य तो नही रहा किन्तु लोगो ने भक्तिभाव के साथ अपने घरो में कन्हैया भगवान की प्रतिमा विराजित कर तथा राधाकृष्ण मंदिर में पूजा-अर्चना की गई।

इसी कड़ी में कृष्ण जन्माष्टमी परसवाड़ा नगर सहित क्षेत्र में धार्मिंक आस्था एवं परंपरा अनुसार हर्षोंल्लास के साथ मनाई गई। जिसके बाद आज 13 अगस्त को देर शाम से ही भगवान श्रीकृष्ण की प्रतिमाओं का विसर्जन करने का दौर नगर स्थित ग्रामीण क्षेत्रो में सरोवरो में शुरू हो गया जो देर शाम तक जारी रहा। हालांकि इस दौरान पुलिस विसर्जन स्थल पर मुस्तैदी के साथ तैनात रही। ग्रामीण क्षेत्रो में कोरोना महामारी के चलते शासन के निर्देशो का पालन करते हुए भगवान श्री कृष्ण को भक्तों द्वारा अपने अपने घरों से जय कन्हैयालाल की जैसे गुंजायमान उद्घोषों के साथ तट पर लाया गया और आरती के पश्चात पूजन अर्चना कर विसर्जित किया गया।

इसी बीच हल्की बारिश के कारण भक्तजनों को मुर्ति विसर्जन के दौरान कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ा और बारिश में भिंगते एवं छाते का सहारा लेकर मूर्ति का विसर्जन किया। हालांकि कृष्ण जन्माष्टमी के चलते कल अधिकतर लोगों ने अपने घरों मे भगवान श्री कृष्ण को विराजित किया और सारी रात श्रीकृष्ण धुन मे जुटे रहे साथ विभिन्न धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन भी किया।