10 लाख और फ्लैट के लिए पत्नी को कर रहा प्रताड़ित

जबलपुर@ नेताजी सुभाषचंद बोस मेडिकल कॉलेज में CMO के पद पर बैठा एक लालची डॉक्टर अपनी पत्नी को दहेज के लिए प्रताड़ित कर रहा। डॉक्टर की पत्नी भी सैलटैक्स विभाग में पदस्थ है उसने कई बार दहेज प्रथा का विरोध भी किया लेकिन वह अपने पति से हार गई और अंतत: डॉक्टर ने उसे घर से भगा दिया। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी डॉक्टर के खिलाफ दहेज एक्ट का प्रकरण दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

महिला थाने से मिली जानकारी के मुताबिक सैलटैक्स आॅफिस में पदस्थ बल्देवबाग निवासी ज्योत्सना ठाकुर ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि 10 अगस्त 2016 को उसका विवाह बालाघाट निवासी डॉ. प्रदीप मरकाम के साथ हुआ था, जो कि मेडिकल अस्पताल में सीएमओ के पद पर पदस्थ है। शादी के बाद से ही प्रदीप, ज्योत्सना पर मायके से 10 लाख रुपए नगद और एक फ्लैट खरीदवाने की डिमांड करने लगा। डॉक्टर की बात सुनने के बाद ज्योत्सना ने उसे कई बार समझाया कि वे दोनों कमाते हैं तो मायके से किसी चीज की मांग करना उचित नहीं है, किंतु सीएमओ अपनी बात पर अड़ा रहा और धीरे-धीरे उसके पिता खेम सिंह, देवर राजा, नंद नीतू धुर्वे, बहनोई यशवंत धुर्वे और मां भी ज्योत्सना से डिमांड पूरी करने दबाव बनाने लगे। तमाम प्रताड़नाओं को झेलने के बाद भी जब ज्योत्सना ने अपने डॉक्टर पति को पैसे और फ्लेट नहीं दिए तो उसने अपने परिजनों के साथ मिलकर ज्योत्सना को घर से निकाल दिया। लाख मिन्नतों के बाद भी जब सीएमओ ज्योत्सना को घर वापस बुलाने राजी नहीं हुआ तो पीड़िता ने थाने पहुंचकर आरोपियों पर कार्रवाई की गुहार लगाई।