केरल में 103 साल के बुजुर्ग ने दे दी कोरोना को मात, देश में अब करीब 28 लाख कोरोना की चपेट में

अच्छी खबर! ऐसा अक्सर सुना जाता है कि अधिक उम्र के लोगों के लिए कोरोना वायरस ज्यादा खतरनाक है लेकिन केरल में उम्रदराज लोग भी इलाज के बाद ठीक हो रहे हैं. ताजा मामला केरल के एर्नाकुलम का है. यहां अलुवा के रहने वाले 103 साल के बुजुर्ग फरीद ने कोरोना को मात दे दी है.

फरीद 20 दिन पहले ही कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. अब उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है और उन्हें अस्पताल से छुट्टी भी दे दी गई है. इस मौके पर अस्पताल के कर्मचारियों ने उन्हें फूलों का गुलदस्ता देकर विदा किया. केरल की स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने भी उन्हें बधाई दी है. उन्होंने कहा कि यह बहुत गर्व की बात है कि हम बुजुर्ग मरीजों का सफल इलाज कर रहे हैं. बता दें कि इससे पहले भी केरल की 105 साल की अस्मा बीबी ने भी कोरोना पर विजय प्राप्त की थी.

बीते 24 घंटों में कोरोना के 64,531 नए मरीज 1092 लोगों की मौतें
देश में कोरोना वायरस अपने पांव तेजी से पसारता जा रहा है. बुधवार को बीते 24 घंटों में कोरोना के 64,531 नए मरीज सामने आए और 1092 लोगों की मौतें हो गई. देश में अबतक करीब 28 लाख लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं. भारत में नए मामले सामने आने के बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 27 लाख 67 हजार 273 हो गई है. वहीं कोरोना वायरस की वजह से मरने वाले लोगों की कुल संख्या 52 हजार 889 हो गई है.

एक्टिव केस की संख्या 6 लाख 76 हजार हो गई और 20 लाख 37 हजार 870 लोग ठीक हो चुके हैं. आंकड़ों के अनुसार मरीजों के स्वस्थ होने की दर बढ़कर 73.64 फीसदी हो गई है. डेथ रेट लगातार 1.91 प्रतिशत पर बना हुआ है. देश में बढ़ते मामलों की एक वजह यहां टेस्ट की संख्या में इजाफा भी माना जा रहा है. ICMR के मुताबिक 18 अगस्त तक कोरोना वायरस के लिए कुल 3 करोड़ 17 लाख 42 हजार 782 सैंपल टेस्ट किए गए, जिनमें से 8 लाख 1 हजार 518 सैंपल की टेस्टिंग मंगलवार को की गई.