स्मार्ट सिटी सूची में शामिल हुए यूपी के 11 शहर

स्मार्ट सिटी मिशन के तहत आज जारी हुई सूची में उत्तर प्रदेश के 11 शहरों का चुनाव हुआ हैं. रैंकिंग की दृष्टि से 87 शहरों की सूची में वाराणसी 11 स्थान पर हैं जो भी प्रद्रेश के अन्य शहरों की तुलना में पहला शहर हैं . इन 11 शहरों में वाराणसी के अलावा आगरा, कानपुर, इलाहाबाद, लखनऊ, बरेली, मुरादाबाद, अलीगढ़, झाँसी, सहारनपुर और मुजफ्फरनगर का नाम है.

प्रदेश के ये 11 शहर बनेंगे स्मार्ट सिटी:
मोदी सरकार के स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत 87 शहरों की नई सूची जारी की गयी हैं. ये शहर स्मार्ट सिटी बनने की दिशा में सबसे पहले आगे बढ़ेंगे. जारी सूची के मुताबिक़ उत्तर प्रदेश के 11 शहरों को इसमें शामिल किया गया हैं. गौरतलब है कि भाजपा केंद्र शासित प्रदेशों को इसमें शामिल किया हैं जिनमें यूपी के 11 शहरों को अत्याधुनिक और सुविधाजनक बनाया जायेगा.

केंद्र ने शहरों में अत्याधुनिक अवस्थापना सुविधाओं के विस्तार के लिए स्मार्ट सिटी मिशन के तहत चुने गए शहरों में प्रदेश के 11 शहरों का चयन किया है. इनमें राजधानी लखनऊ सहित प्रधानमंत्री मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी को भी शामिल किया गया हैं. इसके अलावा पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण ताज नगरी आगरा भी स्मार्ट सिटी में शामिल हैं.

वहीं प्रदेश का औद्योगिक शहर कानपुर भी अत्याधुनिक सुविधाओं से पूर्ण होने की दिशा में है. संगम नगरी इलाहबाद को भी सरकार स्मार्ट सिटी में तब्दील करेगी. इसके अलावा बरेली, मुरादाबाद, अलीगढ़, झांसी और सहारनपुर भी स्मार्ट सिटी बनने की रेस में शामिल हैं.

हर शहर को केंद्र से मिलेंगे 500 करोड़ रुपये
गौरतलब है कि सत्ता में आने से पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के सामने अपना रोडमैप पेश करते हुए 100 शहरों को स्मार्ट सिटी के रूप में डिवेलप करने का ऐलान किया था। सत्ता में आने के बाद पहली बार स्मार्ट सिटी के लिए शहरों की चयन प्रक्रिया जनवरी 2016 में शुरू की गई है और पहले चरण में 20 शहरों को चुना गया था। उसके बाद अलग-अलग चरणों में 87 शहरों का चयन हो चुका है।

बता दें कि नगर विकास विभाग द्वारा उपलब्ध कराई गई एक जानकारी के अनुसार स्मार्ट सिटी मिशन के तहत चयनित लखनऊ शहर को वर्ष 2017 में केन्द्रांश के रूप में 119.80 करोड़, वाराणसी, कानपुर और आगरा शहरों को 107-107 करोड़ रुपये जारी किए गए। इस धनराशि से इन शहरों को स्मार्ट सिटी मिशन के तहत विभिन्न योजनाएं क्रियान्वित किए जाने की अपेक्षा की गई है।

क्या है स्मार्ट सिटी मिशन:
स्मार्ट सिटी मिशन भारत सरकार द्वारा संचालित केन्द्र की मदद से चलने वाली योजना है. जिसके तहत नागरिकों की आकांक्षाओं, आवश्यकताओं व परिस्थितियों के अनुरूप शहर को आदर्श रूप में विकसित करना है।

इसका उद्देश्य उन प्रमुख शहरों को प्रोत्साहित करना है, जो अपने नागरिकों को गुणवत्तापरक जीवन स्तर के साथ स्वच्छ और साफ-सुथरा वातावरण प्रदान करते हैं तथा स्मार्ट समाधान लागू करने का प्रयास करते हैं।

योजना की अवधि 2015-16 से 2019-20 यानी पांच वर्ष तक है। इस योजना का उद्देश्य स्मार्ट सिटी मिशन के चयनित क्षेत्र का आर्थिक विकास और बुनियादी ढाँचा प्रदान करते हुए नागरिकों के लिए बेहतर जीवन स्तर के साथ-साथ स्वच्छ वातावरण प्रदान करना है