111 करोड़ लोगों के आधार कार्ड जारी

सरकार आधार कार्ड को ज्यादा से ज्यादा आर्थिक लेनदेन में इस्तेमाल करने पर जोर दे रही है। प्रमुख सरकारी कल्याणकारी योजनाओँ के अलावा डिजिटल लेन-देन में भी आधार कार्ड आने वाले दिनों में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। इस बीच देश में 68वें गणतंत्र दिवस के साथ ही आधार कार्ड को जारी करने में भी एक बड़ा मुकाम हासिल हुआ है। यूआईडीएआई ने 125 करोड़ की आबादी में से 111 करोड़ लोगों को आधार कार्ड जारी कर दिया है।

देश ने डिजिटल होती सामाजिक व्यवस्था में एक बड़ा पड़ाव हासिल किया है। देश में अब कुल आधार कार्ड धारकों की संख्या 111 करोड़ हो गई है। सरकार भी लगातार विभिन्न कल्याण योजनाओं और आर्थिक लेन-देन में आधार कार्ड की उपयोगिता को बढ़ाने पर जोर दे रही है।

आनलाइन लेन-देन के लिए हाल ही में लांच किए गए एप भीम को भी आधार नंबर से जोड़ दिया गया है, ताकि लोग जल्द लेन-देन की स्थिति में बिना कैश के भी अपना काम कर सकें। हर महीने करीब 2 करोड़ आधार नंबर जारी किए जा रहे हैं और देश में लगभग साढ़े चार करेड़ बैंक अकाउंट आधार कार्ड की बुनियाद पर खोले गए हैं।

सरकार आधार पे डिजिटल भुगतान तकनीक को लोकप्रिय बनाने के लिए लोगों को प्रेरित कर रही है, जो सिर्फ फिंगरप्रिंट का उपयोग करके वित्तीय लेन-देन सुनिश्चित करता है।

आधार-पे के द्वारा भुगतान के लिए ग्राहक को केवल अपने आधार कार्ड संख्या, बैंक का नाम दुकानदार को देने की जरूरत होती है। आधार-पे ऐप के उपयोग के लिए ग्राहकों के पास स्मार्टफोन की कोई जरूरत नहीं है यह डिजिटल लेन-देन कार्डलेस और पिनलेस हैं न डेबिट और क्रेडिट कार्ड की जरूरत और न ही एटीएम पिन या नेट बैंकिंग की आवश्यक है। वर्तमान में 14 बैंक आधार नंबर आधारित भुगतान को शुरू करने की तैयारी कर रहे हैं।