देश को कुपोषण मुक्त बनाने के उद्देश्य से कुम्भ नगरी प्रयागराज से भी कार्यक्रम शुरु

प्रयागराज:प्रयागराज 2019 दिव्य कुंभ भव्य कुंभ सुरक्षित कुंभ देश को कुपोषण मुक्त बनाने के उद्देश्य से कुम्भ नगरी प्रयागराज से भी कार्यक्रम शुरु किया प्रमुख सचिव, महिला एवं बाल विकास श्रीमती मोनिका एस. गर्ग ने किया उद्घाटन  सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के तत्वाधान में बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग द्वारा कुम्भ मेला के सेक्टर-1 में देश को कुपोषण मुक्त बनाने के उद्देश्य से आयोजित प्रदर्शनी में श्रद्धालुओं तथा आम जनमानस को नुक्कड़ नाटक तथा स्टॉल लगाकर प्रेरित किया जा रहा है। कुम्भ मेला के सेक्टर-1 एवं सेक्टर-2 तथा संगम क्षेत्र में राष्ट्रीय पोषण अभियान के अन्तर्गत विभिन्न स्थानों पर स्वस्थ्य भारत प्रेरकों द्वारा किये जाने वाले नुक्कड़ नाटक कार्यक्रम का उद्घाटन प्रमुख सचिव, महिला एवं बाल विकास श्रीमती मोनिका गर्ग ने किया। श्रीमती गर्ग ने विभागीय प्रदर्शनी का निरीक्षण भी किया। उन्होंने बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग के कैम्प में आने वाले कुम्भ मेला के वर्करों के बच्चों से परिचय किया। उन्होंने 6 माह के बच्चे शिवाय, माता संगीता को प्रथम बार अन्न खिलाकर अन्नप्राशन भी किया। साथ ही बच्चे की मॉ को बच्चे के देखभाल तथा आहार खिलाने के बारे में जानकारी भी दी। उन्होंने समस्त आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों से बच्चों को पुष्टाहार खिलाने के लिए प्रेरित करने को भी कहा।

देश को कुपोषण मुक्त बनाने के उद्देश्य से आयोजित किये गये नुक्कड़ नाटक के माध्यम से लोगों को कुपोषण के प्रति जागरुक किया गया। इस नाटक के द्वारा बच्चे के प्रथम एक हजार दिन के महत्व के बारे में भी बताया। इसके अलावा गर्भवती महिला की देखभाल तथा समय-समय पर टीकाकरण के लिए नुक्कड़ नाटक के माध्यम से प्रेरित किया गया। नुक्कड़ नाटक से ’हम सबने ठाना है, कुपोषण मुक्त बनाना है’ जैसे नारो के द्वारा लोगों को जागरुक किया जा रहा है।

प्रमुख सचिव श्रीमती मोनिका गर्ग ने कहा कि कुपोषण मुक्त बनाने के लिए कुम्भ मेले में बाल विकास पुष्टाहार विभाग द्वारा सुपोषण स्वस्थ्य मेला का अयोजन किया जा रहा है। यह मेला कुम्भ मेला क्षेत्र के सेक्टर-1 में आयोजित प्रदर्शनी में किया जाता है। इसके अलावा स्वस्थ्य भारत प्रेरकों द्वारा विभिन्न स्थानों पर नुक्कड़ नाटक भी किये जा रहे हैं, जो देश को सुपोषण बनाने में प्रभावी कदम सिद्ध होगा। उन्होंने बताया कि बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग द्वारा एक अद्भुत प्रयास किया गया है। इसके माध्यम से सुपोषण के संदेश को जनसामान्य तक पहुॅचा रहे हैं। नाट्य मण्डली द्वारा लगाग 100 नुक्कड़ नाटक करके लोगों को जागरुक किया जायेगा। उन्होंने कहा कि नुक्कड़ नाटक अच्छे संदेश दे रहे हैं। इसके द्वारा सरल तथा जन सामान्य की भाषा में संदेश को घर-घर तक पहुॅचा रहे हैं। उन्होंने निरीक्षण के दौरान आंगनवाड़ी केन्द्र का डेमो भी देखा, साथ ही महिलाओं की गोदभराई भी की।[ ब्यूरो रिपोर्ट प्रयागराज]