शान्ति व्यवस्था बनाये रखने के उद्देश्य से अपर जिला मजिस्ट्रेट ने धारा-144 की लागू

प्रतापगढ़:प्रतापगढ़ लोकसभा सामान्य निर्वाचन-2019 की अधिसूचना प्रख्यापित हो चुकी है और इसी दौरान 20, 22 व 22 मार्च 2019 को होली का त्योहार, दिनांक 13.04.2019 को रामनवमी, दिनांक 14.04.2019 को अम्बेडकर जयन्ती, दिनांक 17.04.2019 को महावीर जयन्ती तथा दिनांक 19.04.2019 को गुड फ्राइडे आयोजन/त्योहार सम्पन्न होने है। त्योहारों एवं निर्वाचन के अवसर पर कतिपय असामाजिक तथा समाजविरोधी तत्व ऐसा कार्य कर सकते है जिससे जनपद में शान्ति व्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है और जनमानस की सुरक्षा में व्यवधान उत्पन्न हो सकता है। इस अवसर पर शान्ति व्यवस्था बनाये रखने के उद्देश्य से अपर जिला मजिस्ट्रेट cशत्रोहन वैश्य ने दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा-144 के अन्तर्गत तत्काल प्रभाव से निषेधाज्ञा लागू कर दिया है जो सम्पूर्ण जनपद सीमा में 06.05.2019 तक प्रभावी रहेगी।

निषेधाज्ञा में निहित प्राविधानों में एक स्थान पर 5 या 5 से अधिक व्यक्तियों का विधि विरूद्ध जमाव प्रतिबन्धित किया जाता है। त्योहारों के पावन पर्व पर कोई नई परम्परा नहीं कायम की जायेगी। कोई भी व्यक्ति नामांकन एवं मतदान स्थलों या अन्य किसी सार्वजनिक स्थानों पर रिवाल्वर, पिस्टल, राइफल, एक नली बन्दूक व दो नली बन्दूक अथवा घातक हथियार यथा चाकू बल्लम, फरसा, विस्फोटक, ज्वलनशील पदार्थ, तेजाब आदि अथवा लाठी, डंडा, हाकी स्टिक आदि या किसी भी प्रकार का हथियार/शस्त्र लेकर नही चलेगा, न तो उसका प्रयोग करेगा। यह प्रतिबन्ध सरकारी ड्यूटी पर तैनात अधिकारी/कर्मचारी तथा बैंक में लगे हुये सुरक्षा कर्मियों पर लागू नही होगा। शारीरिक रूप से विकलांग व्यक्तियों को उनके सहारे के रूप में लाठी या डंडा लेकर चलने की छूट रहेगी। किसी भी सार्वजनिक धार्मिक स्थल पर लाउडस्पीकर का प्रयोग किसी भी दशा में इस प्रकार से नहीं किया जायेगा जिससे विभिन्न सम्प्रदाय के लोगों में उत्तेजना फैलने की सम्भावना हो। लाउडस्पीकर का प्रयोग रात्रि 10 बजे से प्रातः 6 बजे तक किसी भी प्रकार से नही किया जायेगा। अन्य समय में लाउडस्पीकर का प्रयोग सक्षम अधिकारी एवं सम्बन्धित उप जिला मजिस्ट्रेट की पूर्व अनुमति से ही किया जा सकेगा। नामांकन, सम्वीक्षा का कार्य, उम्मीदवारी से नाम वापस लेने का कार्य, जहां पर यह कार्य सम्पादित हो रहा है उक्त से सम्बन्धित परिसरों में प्रातः 6 बजे से कार्य समाप्त होने तक कोई भी बाहरी व्यक्ति या जुलूस के रूप में व्यक्तियों का प्रवेश/उपस्थिति प्रतिबन्धित रहेगा। सुरक्षा प्राप्त उम्मीदवारों एवं मतदाताओं के सुरक्षा कर्मी एवं मा0 जनप्रतिनिधि भी उक्त स्थल पर प्रवेश नही कर सकेगें जब तक कि वह उम्मीदवार/प्रस्तावक न हों या वह मात्र मतदान हेतु मतदाता के रूप में न हो। मा0 आयोग द्वारा नियुक्त प्रेक्षक, निर्वाचन प्रक्रिया से जुड़े अधिकारियों/कर्मचारियों, निर्वाचन ड्युटी पर तैनात पुलिस कर्मियों व निर्वाचन अभिकर्ता पर यह प्रतिबन्ध लागू नही होगा। नामांकन दाखिला के समय प्रत्याशी व उसके प्रस्तावक सहित मा0 निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित संख्या से अधिक व्यक्ति रिटर्निंग आफिसर के कार्यालय में नही जायेगें।
कोई भी व्यक्ति अथवा राजनैतिक दल, संगठन अन्य समुदाय के लोग निर्धारित संख्या से अधिक वाहन लेकर नहीं चलेगें। प्रचार हेतु जो वाहन प्रयोग में लाया जायेगा, उसमें सक्षम अधिकारी से प्राप्त अनुमति के बाद ही निर्धारित संख्या व आकार तथा डेसिबल के लाउडस्पीकर लगाये जायेगें। सक्षम अधिकारी रिटर्निंग आफिसर से ली गयी अनुमति वाहन के शीशे पर यथा स्थान चस्पा किया जायेगा। प्रचार वाहन पर लगाये जाने वाले बैनर व स्टिकर भी निर्धारित संख्या व साइज के ही लगाये जायेगें। निर्वाचन लड़ने वाला कोई भी प्रत्याशी/अभ्यर्थी प्रचार के लिये मा0 निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित संख्या में ही आर0ओ0/ए0आर0ओ0/सक्षम अधिकारी द्वारा नियमानुसार निर्गत परमिट के उपरान्त वाहन का उपयोग निर्धारित क्षेत्र व समय में कर सकेगा। कोई भी व्यक्ति या दल/अभ्यर्थी, अन्य राजनैतिक दलों के अभ्यर्थियों के बारे में कोई ऐसी आलोचना नहीं करेगा जिसकी सत्यता स्थापित न हुई हो या तोड़-मरोड़ कर कही गयी बातों पर आधारित हो एवं स्थलों को सभा स्थल या निर्वाचन कार्य के रूप में प्रयोग नही किया जायेगा और न ही इन स्थानों से जुलूस व रैली निकाली या समाप्त की जायेगी। कोई व्यक्ति किसी भी प्रकार का कोई संगठन या राजनैतिक दल ऐसी कोई प्रचार की सामग्री नही छपवायेगा जिससे जनमानस की भावनाओं को ठेस पहुॅचे एवं उत्तेजना उत्पन्न हो। कोई भी राजनैतिक दल, अभ्यर्थी या समर्थक सम्पत्ति स्वामी की अनुमति के बावजूद भी किसी व्यक्ति भी किसी व्यक्ति की भूमि, भवन, आहाते की दीवार आदि पर ध्वज दण्ड बनाने, ध्वज टांगने, सूचनायें चिपकाने, नारे लिखने आदि का कार्य नही करेगें। कोई भी राजनैतिक दल, अभ्यर्थी चुनाव से सम्बन्धित जन सभाओं, जुलूस एंव रैली के लिये विधिवत् अनुमति पूर्व में ही सक्षम अधिकारी/सम्बन्धित उपजिला मजिस्ट्रेट/आर0ओ0/ए0आर0ओ0 से प्राप्त करेगा। कोई दल या अभ्यर्थी अपने जुलूस या सभा के आयोजन से यातायात में रूकावट नही पैदा करेगा। दो या दो से अधिक दल एक ही समय व एक ही रास्ते से जुलूस नहीं ले जायेगें। कोई भी व्यक्ति किसी प्रत्याशी की हार-जीत के सम्बन्ध में सट्टा नही लगायेगा। कोई भी व्यक्ति अथवा उम्मीदवार मतदाताओं को अपने पक्ष में वोट डालने के लिये अनुचित दबाव नहीं बनायेगा न ही उन्हें किसी प्रकार से भयभीत करेगा, न ही रोकेगा और न ही प्रलोभन अथवा धमकी देगा।[ब्यूरो रिपोर्ट प्रतापगढ़]