डेरा समर्थकों की हिंसा में 13 की मौत, 100 से ज्यादा घायल, नुकसान की भरपाई के लिए होगी डेरा प्रमुख की संपत्ति जब्त

255

यौन शोषण के आरोपों में डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को दोषी करार दिए जाने के बाद डेरा समर्थकों की हिंसा में 30 लोगों की मौत हो गई है और 250 लोगों से ज्यादा घायल हुए हैं. हालांकि ये स्पष्ट नहीं हो पाया है कि सभी 30 लोगों की मौत आखिर कैसे हुई है.

क्या पुलिस फायरिंग में हुई मौत?

इतनी बड़ी संख्या में लोगों की मौत को लेकर सवाल उठ रहे हैं, क्या ये सभी मारे जाने वाले राम रहीम के समर्थक थे, और क्या पुलिस की गोलियों से ये सभी मारे गए? क्योंकि हिंसा में सबसे ज्यादा मौतें पंचकूला में हुई हैं, जहां 28 लोगों की मौत हुई.

या फिर भगदड़ से मौत के लिए जिम्मेदार?

अगर पुलिस की फायरिंग में लोगों की मौतें नहीं हुईं तो फिर क्या कोर्ट के फैसले के बाद भीड़ बेकाबू हो गई और फिर हालात को काबूू में करने के लिए सख्ती के बाद लोग भगदड़ के शिकार हो गए.

30 की मौत, 250 से ज्यादा घायल

बता दें कि कोर्ट के फैसले के बाद हरियाणा और पंजाब में जबरदस्त हिंसा फैली. डेरा समर्थकों ने दोनों राज्यों में जमकर उत्पात मचाया है. पंचकूला की एक विशेष सीबीआई अदालत ने शुक्रवार को गुरमीत राम रहीम सिंह को 2002 के बलात्कार के एक मामले में दोषी करार दिया. डेरा समर्थकों ने व्यापक हिंसा और आगजनी की और प्रदर्शनकारियों पर काबू पाने के लिए पुलिस ने गोली चलाई. हिंसा में कम से कम 30 लोगों की मौत हो गई और 250 लोग घायल हो गए. पंचकूला में 28 लोगों की मौत हो गयी जो हिंसा का केंद्र बन गया, वहीं दो लोग सिरसा में मारे गये जो राम रहीम के डेरा सच्चा सौदा का मुख्यालय है.

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने बुलाई बैठक

अधिकारियों ने कहा कि चारों तरफ जमकर तबाही मचायी गयी. कई जगह आगजनी की गयी. गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने हिंसा के मद्देनजर शनिवार को सुरक्षा स्थिति की समीक्षा बैठक बुलाई है. बैठक में गृह मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी, अर्द्धसैनिक बलों के प्रमुख और खुफिया एजेंसी के अफसर शामिल होंगे.

न्यायाधीश जगदीप सिंह ने दिया फैसला

सीबीआई न्यायाधीश जगदीप सिंह ने डेरा सच्चा सौदा के 50 वर्षीय प्रमुख राम रहीम को 2002 में एक अनाम लिखित शिकायत के आधार पर दर्ज किए गए मामले में बलात्कार का दोषी करार दिया. शिकायत में उन पर दो महिला अनुयायियों के यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया गया था. रिपोर्ट के आधार पर पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के निर्देश पर उनके खिलाफ दिसंबर, 2002 में मामला दर्ज किया गया था.

उम्रकैद तक हो सकती है रामरहीम को

गुरमीत राम रहीम सिंह को अदालत द्वारा बलात्कार का दोषी करार दिये जाने के दो घंटे के अंदर उनके हजारों समर्थकों ने उपद्रव शुरू कर दिया और वाहनों, इमारतों और रेलवे स्टेशनों को आग के हवाले कर दिया. उन्हें इस मामले में कैद की सजा सुनाई जा सकती है जो सात साल से कम नहीं होगी. इसे उम्रकैद तक बढ़ाया जा सकता है.

डेरा सच्चा सौदा ने फैसले को बताया अन्यायपूर्ण

इसके बाद डेरा सच्चा सौदा ने एक बयान में इस फैसले को अन्यायपूर्ण करार देते हुए कहा कि वह फैसले के खिलाफ अपील करेगा. फैसला सुनाये जाने के बाद बड़े पैमाने पर जारी हिंसा के बीच डेरा प्रवक्ता दिलावर इंसा के हस्ताक्षर वाले बयान में शांति की अपील की गयी है.

राजस्थान में भी हिंसा

पुलिस ने हिंसा पर रोकथाम के लिए हवाई गोलीबारी की, प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले छोड़े और पानी की बौछार की. पंचकूला के बाहर हरियाणा, पंजाब और यहां तक कि राजस्थान के कुछ इलाकों में हिंसा फैलने की खबरें आ रही हैं. पुलिस ने कहा कि पूर्वोत्तर दिल्ली के लोनी चौक में कथित तौर पर डेरा सच्चा सौदा समर्थकों ने बस में आग लगा दी.

पंचकूला के सिविल अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी विवेक भादू ने कहा, 17 लोगों की मौत हो गई और कम से कम 200 लोग घायल हो गये. भादू ने कहा कि पांच लोगों को मृत अवस्था में लाया गया वहीं 12 घायलों की अस्पताल में मृत्यु हो गई.