वकीलों ने दिया पुलिस को 24 घंटे का अल्टीमेटम

इस ख़बर को शेयर करें:

  प्रयागराज: प्रयागराज सोरांव थाना क्षेत्र के अंतर्गत तिवारीपुर लेहरा गांव के निवासी अधिवक्ता सुशील पटेल पुत्र रामलाल पटेल की रविवार शाम 8:00 बजे अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। अधिवक्ता सुशील पटेल की हत्या के बाद अधिवक्ताओं ने कचहरी में कामकाज को बंद रखा। और सड़क पर उतर आए अधिवक्ताओं की आए दिन हत्या होने से बदमाशों का हौसला बढ़ता जा रहा है। पुलिस बदमाशों को पकड़ने में नाकाम साबित हो रही है। क्षेत्र की जनता का योगी सरकार और पुलिस से भरोसा उठता जा रहा है । प्रयागराज कचहरी से लेकर तहसील तक के वकीलों में भयंकर रोष व्याप्त है। जिला अधिवक्ता संघ ने हत्यारोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस को 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। संघ की बैठक में वकीलों ने घटना की निंदा करते हुए पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाए। कहा कि जिले में एक के बाद एक घटना हो रही है, लेकिन पुलिस अपराधियों पर लगाम लगाने में नाकाम है। अधिवक्ता सुशील पटेल की हत्या से कचहरी से लेकर तहसील तक के वकीलों में रोष व्याप्त है।संघ के अध्यक्ष उमाशंकर तिवारी, उपाध्यक्ष अमित निगम, लक्ष्मीकांत, मंत्री मनोज कुमार लोकेश समेत अन्य अधिवक्ताओं ने कहा कि शासन और प्रशासन वकीलों की सुरक्षा को लेकर उचित कदम नहीं उठा रहा है। आक्रोशित वकील देवेंद्र मिश्र, समीर त्रिपाठी, पूर्व अध्यक्ष शीतला प्रसाद, राकेश तिवारी पूर्व मंंत्री दिनेश श्रीवास्तव, अनिल समेत अन्य ने जुलूस निकालकर विरोध प्रर्दशन किया। अधिवक्ताओं ने कहा कि अगर 24 घंटे में कातिल पकड़े नहीं जाते हैं तो आंदोलन तेज होगा। संघ की ओर से मंगलवार सुबह 11 बजे फिर आम सभा की बैठक बुलाई गई है। कहा जा रहा है कि अधिवक्ता दूसरे दिन भी न्यायिक कार्य का बहिष्कार कर सकते हैं।{ब्यूरो रिपोर्ट प्रयागराज }