लापरवाही किसकी थाने से 17 वर्षीय किशोरी लापता

प्रयागराज :प्रयागराज जहां एक तरफ योगी सरकार की पुलिस क्राइम पर कंट्रोल कर रही है आए दिन वह एक अनसुलझे केशों को सुलझा रही है। वही है योगी सरकार की पुलिस से इतनी बड़ी लापरवाही भी कैसे हो जा रही है। ऐसी ही एक लापरवाही से एक मूक बधिर किशोरी लापता। शिवकुटी थाना क्षेत्र के अंतर्गत कुछ दिन पहले शिवकुटी इलाके से लापता हुई 17 साल की किशोरी देर रात पुलिस को भटकती हुई मिली पुलिस के द्वारा किशोरी को थाना कर्नलगंज लाया गया खबर मिलने पर सुबह परिवार के सदस्य कर्नलगंज थाने पहुंचे तो पता चला कि किशोरी थाने से गायब है पुरे गड़ेरिया इलाके में रहने वाले संतोष कुमार स्कूल की ट्राली चलाते हैं। उनकी 17 वर्षीय बेटी खुशबू जो मूक बधिर है। वह सोमवार रात करीब 9:30बजे के आसपास घर के बाहर बैठी थी। कुछ देर बाद वह वहां नहीं दिखी तो परिवार जनों ने खोजबीन शुरू की मगर वह कहीं नहीं मिली। उधर आधी रात किसी ने खुशबू को प्रयाग स्टेशन के पास भटकते देखा तो हंड्रेड डायल को सूचना दी सूचना मिलने पर उसे कर्नलगंज थाने लाया गया। थाने से उसे नारी निकेतन, स्वरूप रानी अस्पताल ले जाया गया पर कहीं दाखिला नहीं किया गया। फिर उसे वापस लाकर थाने में महिला सिपाही मीरा की निगरानी में रखा गया। महिला सिपाही ने बताया कि लड़की रात भर थाने में रही। सुबह ड्यूटी खत्म होने के बाद वह घर चली गई इसके बाद वह नहीं जानती की लड़की का क्या हुआ। मंगलवार को माता पिता कर्नलगंज थाने गए तो उन्हें भी बताया गया कि लड़की रात भर थाने में थी। फिर पता नहीं कहां चली गई। कर्नलगंज थाना प्रभारी अरुण त्यागी ने कहा कि उन्हें यह भी नहीं पता कि कोई लड़की रात भर थाने में रही। बुधवार को भी खुशबू की तलाश में खुशबू के माता पिता भटकते रहे कर्नलगंज थाने में पहुंचे। तो गुमशुदगी की अर्जी लेकर रखी गई खुशबू के पिता संतोष का कहना है कि उनकी बेटी के साथ अगर कुछ अनहोनी होती है तो वह कर्नलगंज पुलिस उसकी जिम्मेदार होगी इस सारे घटनाक्रम में हुई लापरवाही के बारे में डीआईजी कवींद्र प्रताप सिंह का कहना है। कि कर्नलगंज थाने में खुशबू नाम की किशोरी जो मूक बधिर हे वह अगर रात भर थाने में रही और सुबह गायब हो गई यहां बड़ी गंभीर लापरवाही है इसकी जांच कराकर इसमें दोषी लोगों के साथ कठोर कार्रवाई की जाएगी वही खुशबू के माता पिता का हाल बेहाल होता जा रहा है। कि कहीं कोई अनहोनी घटना उनकी लड़की के साथ ना घट जाए। (ब्यूरो रिपोर्ट प्रयागराज)