पीडीए की 42वीं कार्रवाई भूमाफिया गणेश यादव के नाम: चार मंजिला मार्केट पर चला बुल्डोजर

Tags:
इस ख़बर को शेयर करें:

प्रयागराज. संगमनगरी प्रयागराज में माफियाओ की अवैध संपत्तियों के खिलाफ चल रही कार्रवाई की कड़ी में मंगलवार को प्रयागराज विकास प्राधिकरण की टीम ने ध्वस्तीकरण की 42वीं कार्रवाई की. गंगापार के झूसी कोतवाली के हवेलिया निवासी हिस्ट्रीशीटर गणेश यादव के न्याय नगर गेट के बगल बनी चार मंजिला गणेश मार्केट पर पीडीए का बुल्डोजर चला. करोड़ों की सम्प्पत्ति की इस बिल्डिंग के ध्वस्तीकरण में 5 जेसीबी लगाई गई है. साथ ही सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं.

26 दिसम्बर को पीडीए ढहा चुका है गणेश यादव का तीन मंजिला मकान

झूंसी में पीडीए ने ध्वस्तीकरण की पांच जनवरी को छठवीं कार्रवाई की है. इससे पहले गणेश यादव के हवेलिया स्थित 1500 वर्ग गज में बने आलीशान तीन मंजिला मकान को गत 26 दिसम्बर को पीडीए ने पांच बुल्डोजर लगाकर ढहा दिया था. ध्वस्तीकरण की कार्रवाई के दौरान पीडीए के जोनल अधिकारी सत शुक्ला, शिवानी सिंह तथा आलोक पांडेय, एसडीएम फूलपुर युवराज सिंह, सीओ दारागंज राजेश यादव भी मौजूद रहे. जोनल अधिकारी सत शुक्ला ने बताया कि तकरीबन मकान का निर्माण पीडीए से बगैर नक्शा पास कराए किया गया था. इसी वजह से ध्वस्तीकरण कराया जा रहा है.

झूंसी और सराय इनायत में दर्ज हैं गणेश पर कुल 10 एफआईआर

भूमाफिया एवं हिस्ट्रीशीटर गणेश यादव पर झूंसी और सराय इनायत थाने में कई गंभीर धाराओं में केस दर्ज हैं. हवेलिया गांव निवासी गणेश यादव पर झूंसी और सराय इनायत थाने में कुल दस मुकदमे दर्ज हैं. गणेश यादव पर पहला मुकदमा वर्ष 1991 में सराय इनायत थाने में दर्ज हुआ था. सीओ दारागंज राजेश यादव ने बताया कि गणेश पर झूंसी में तीन एफआईआर दर्ज हैं, जिसमें से एक मुकदमे में फाइनल रिपोर्ट लग चुकी है. अन्य सात मुकदमे सराय इनायत थाने में दर्ज हैं. माना जा रहा है कि अब गणेश की हिस्ट्रीशीट भी खोली जाएगी.

गणेश यादव पर वर्ष 2007 में एके 47 से हुआ था जानलेवा हमला

आज से करीब 13 साल पांच महीने पहले गणेश यादव पर एके 47 से जानलेवा हमला किया गया था, जिसमें वह बाल-बाल बच गया था. 07 जुलाई 2007 को गणेश झूंसी हाइवे पर स्थित अपने मार्केट में बाल कटवा रहा था. तभी पूर्वांचल के शार्प शूटरों ने एके 47 से ताबड़तोड़ फायरिंग की थी. हमले में गणेश यादव के भांजे की मौत हो गई थी. एक किशोर समेत दो गोली लगने से घायल हो गए थे.