आर्यवीर प्रशिक्षण एवं संस्कार का तीन दिवसीय शिविर हुआ सम्पन्न

आर्यवीर प्रशिक्षण एवं संस्कार शिविर का आयोजन सम्पन्न हो गया। यह शिविर तीन दिवसीय था। सत्यनारायण वेद प्रचार ट्रस्ट लखनऊ द्वारा अंगीकृत संगठन जिला वेद प्रचार संगठन के तत्वाधान में आयोजित शिविर संस्था के संस्थापक आचार्य विश्व व्रत शास्त्री के कुशल नेतृत्व में जानकीपुरम स्थित आर्ष गुरुकुलम के परिसर में सम्पन्न हुआ। शिविर का उद्घाटन 15 जून को 83 वर्षीय बेचन सिंह के संरक्षण में वैदिक हवन एवं ओम ध्वजारोहण के साथ हुआ।

इस शिविर में जौनपुर, बस्ती, मिर्जापुर और लखनऊ के 35 आर्यवीरों ने भाग लिया। शिविर के शिविरार्थियों को चार अलग अलग वर्गों में विभाजित किया गया था। मिर्जापुर के वरिष्ठ आचार्य अमित शास्त्री ने आर्यवीरों को प्रातः 5 से 10 के बीच आसन, व्यायाम, प्राणायाम, दैनिक यज्ञ एवं बौद्धिक कार्यक्रमो हेतु प्रेरित कर शिक्षण दिया गया। तीन दिवसीय आयोजित शिविर में संस्थापक विश्व व्रत शास्त्री ने आर्यवीरों को वैदिक मंत्रों एवं नीति श्लोको का शुद्ध वचन एवं लेखन समेत व्याख्यान का प्रशिक्षण भी दिया। दोपहर 2 से 4 के बीच शिविर के अभ्यर्थियों ने वेद, यज्ञ, ईश्वर, आत्मा, जीवन, मृत्यु एवं मोक्ष आदि विषयों पर जिज्ञासाएं व्यक्त की।

नन्हे मुन्हों ने दिखाई अजब प्रतिभा
नन्हे मुन्हों आर्यवीरों ने महज कुछ समय के प्रशिक्षण को प्राप्त कर जो प्रतिभा दिखाई वो हर कोई देखता रह गया। कराटे के दांव हो या योगा के विभिन्न आसन, ईश्वरीय पूजन हो या अध्यात्म का ज्ञान, इन नन्हे मुन्हों ने प्रत्येक वर्ग में अपना शत प्रतिशत दिया। संस्थापक आचार्य विश्व व्रत शास्त्री ने बताया कि आर्ष गुरुकलम में अभ्यर्थियों को ज्ञान एवं अध्यात्म से जुड़ी हर एक विधा हेतु प्रेरित करना संस्था का मुख्य मकसद रहा है। कार्यक्रम के समापन के पश्चात आयोजन में शामिल हुए सैकड़ो लोगो ने प्रसाद ग्रहण किया। इस आयोजन में संस्थापक विश्व व्रत शास्त्री के अलावा अखिलेश मिश्रा, अमित शास्त्री, डॉ सत्यकाम आर्य, नवीन कुमार सहगल, प्रताप कुमार,कविता सहगल एवं यशोदा शर्मा समेत सैकड़ो लोग शामिल रहे।