शिक्षकों एवं छात्रों को आधार नम्बर से जोड़ने का कार्य शीघ्र पूर्ण करें : शिक्षा राज्यमंत्री

उत्तर प्रदेश सरकार के बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री श्री संदीप सिंह ने आज योजना भवन में आयोजित जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों की समीक्षा बैठक में निर्देश दिए कि जिन जनपदों में आधार संख्या से लिंक करने का कार्य अभी पूरा नहीं हो पाया है, उन जिलों के बेसिक शिक्षा अधिकारी आधार संख्या से छात्रों एवं शिक्षकों को जोड़े जाने के कार्य को यथाशीघ्र पूरा करें। उन्होंने कहा कि शिक्षा के स्तर को सुधारना सरकार की प्राथमिकताओं में से एक है, इसके लिए सरकार हर सम्भव प्रयास कर रही है।

श्री सिंह ने कहा कि सरकार द्वारा मांगी गई जानकारी के निर्धारित समय में उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने कहा कि भेजे गए आंकड़े विश्वसनीय होने चाहिए। मध्यान्ह भोजन वितरण में आ रही शिकायतों पर चिन्ता जाहिर करते हुए उन्होंने निर्देश दिए कि आगे से ऐसी शिकायतें नहीं मिलनी चाहिए। साथ ही गुणवत्ता जांच कार्यक्रम बनाए जाने का भी निर्देश। उन्होंने मृतक अश्रितों एवं सेवानिवृत्त अधिकारियों की समस्याओं का उचित समाधान करने के निर्देश भी दिए।

बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री ने निर्देश दिए कि जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी स्वयं स्कूल जाएं और विभिन्न योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जांच करें। इस बात की भी जांच करें कि छात्रों को किताबे, ड्रेस एवं बैग इत्यादि का वितरण हुआ है कि नहीं। जिन विद्यालयों में वितरण नहीं हो पाया है वहां उपलब्धता सुनिश्चित कराएं। उन्होंने निर्देश दिए कि स्वेटर का वितरण शर्दियों के आने से पूर्व करा दें ताकि छात्रों का इसका उचित लाभ मिल सके।

श्री संदीप सिंह ने कहा कि स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जाए क्योंकि स्वच्छता से स्वास्थ्य का सम्बंध होता है। स्वच्छता अभियान चलाकर छात्रों एवं अभिभावकों को जागरुक बनाया जाए। उन्होंने कहा कि स्कूल समय से खुले व बन्द हो साथ ही साथ अध्यापकों की भी समय से उपस्थिति सुनिश्चित हो, जिससे अधिक से अधिक संख्या में छात्र विद्यालय आ सकें एवं शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाया जा सके।

श्री सिंह ने विद्यालयों से हो रही कम्प्यूटर, बर्तन इत्यादि की चोरी रोके जाने के लिए उचित कार्यवही करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही कम्प्यूटर की जगह लैपटाप दिए जाने की सरकार की मंशा है। जौनपुर जिले के जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा प्रस्तुत किए गए नालेज पैरामीटर कार्यक्रम की तारीफ करते हुए कहा कि इससे अन्य बेसिक शिक्षा अधिकारियों को भी सीख लेने की आवश्यकता है। इस नालेज पैरामीटर कार्यक्रम को वेबसाइट- इंेपबेीपोींरंनदचनतण्वतह पर देखा जा सकता है।

नालेज पैरामीटर को जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जौनपुर ने प्रगति स्थित एवं गिरावट जैसे तीन मानकों में बांटा ह,ै जिसके माध्यम से छात्रों एवं शिक्षकों की शिक्षा प्रगति की जांच की जा सकेगी। इससे जहां छात्रों की शिक्षा गुणवत्ता में सुधार आ सकेगा, वहीं शिक्षकों की जवाबदेही भी सुनिश्चित हो सकेगी।

समीक्षा बैठक में निदेशक शिक्षा श्री सर्वेन्द्र विक्रम बहादुर सिंह ने कहा कि 05 सितम्बर को ‘शिक्षक दिवस‘ को जिले स्तर, खण्ड स्तर एवं विद्यालय स्तर पर होने वाले कार्यक्रम में खेलकूद प्रतियोगिता विशेष रुप से आयोजित किए जाए। इसके लिए हर सम्भव मदद उपलब्ध करायी जाएगी।

समीक्षा बैठक में अपर मुख्य सचिव, श्री आर. पी. सिंह, निदेशक बेसिक शिक्षा श्री सवेन्द्र विक्रम सिंह, निदेशक मध्यान्ह भोजन श्री अब्दुल समद, निदेशक सर्व शिक्षा अभियान डा0 वेदपति मिश्रा, निदेशक साक्षरता डा0 अवध नरेश शर्मा, सचिव बेसिक शिक्षा परिषद श्री संजय सिंह एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहें।