अमानत में ख्यानत कर ट्रक को खुर्दबुर्द करने वाला फरार ईनामी आरोपी गिरफ्तार

जबलपुर। थाना अधारताल में सुबह लगभग 11-15 बजे मोहम्मद जावेद उम्र 41 वर्ष निवासी अम्बेडकर कालोनी की ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि दिनांक 06-02-2014 को अपने 10 चक्के अशोक लीलेंड ट्रक को नूरी नगर पसियाना गोहलपुर निवासी मोहम्मद आदिल मंसूरी को 30 हजार रूपये प्रतिमाह के हिसाब से चलाने के लिये किराये पर दिया था, उसने उक्त ट्रक 2013 में श्रीराम फाईनेंस कम्पनी से फाईनेंस कराकर खरीदा था, मोहम्मद आदिल द्वारा श्रीराम फाईनेंस कम्पनी में केवल 04 माह की किस्त 1 लाख रूपये दी गई थी इसके बाद मोहम्मद आदिल ने किस्त देना बंद कर दिया था, ट्रक के कागजात आदिल के पास हैं, आदिल ने ट्रक महाराष्ट्र में किसी को बेच दिया है, आदिल न ही उसे ट्रक वापस कर रहा है और न ही किश्त दे रहा है, मोहम्द आदिल ने अमानत मे ख्यानत कर उसका ट्रक खुर्दबुर्द कर दिया है। रिपोर्ट पर धारा 406 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर मोह. आदिल की तलाश की गयी जो घर से फरार मिला।

पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) द्वारा फरार आरोपी आदिल की गिरफ्तारी पर 3 हजार रूपये नगद पुरूस्कार से पुरूस्कृत करने की उद्घोषणा की गयी। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक उत्तर अगम जैन (भा.पु.से.)  मार्ग निर्देशन मे एक विशेष टीम गठित की गयी। टीम के द्वारा पतासाजी करते हुये मोह. आदिल को पकड़ा गया जिसने पूछताछ पर नागपुर में उक्त ट्रक को 2 लाख 50 हजार रूपये में नागपुर महाराष्ट्र के फैजुलहसन नाम के व्यक्ति को कूट रचित दस्तावेज तैयार कर इंजन नम्बर, चेचिस नम्बर पंच कर बेचना स्वीकार किया।

मान्नीय न्यायालय के समक्ष पेश कर ट्रक की बरामदगी हेतु  मोह. आदिल को 5 दिन की पुलिस रिमाण्ड पर लिया गया एवं टीम के द्वारा नागपुर मे दबिश दी गयी,  एवं पतासाजी की गयी तो ज्ञात हुआ कि गौवंश की अवैध तस्करी मे वर्ष 2017 मे थाना सिरपुर जिला एदलाबाद महाराष्ट्र मे उक्त ट्रक जप्त है । पकडे गये आरोपी मोह. आदिल द्वारा कूट रचना कर ट्रक के फर्जी दस्तावेज तैयार कर ट्रक को बचना पाया जाने पर प्रकरण में धारा 420, 467, 468, 471, 411, 271,34 भादवि का ईजाफा किया गया है।

उल्लेखनीय भूमिका-

3 हजार रूपये के फरार ईनामी आरोपी को गिरफ्तार करने मे थाना प्रभारी अधारताल श्री शैलेष मिश्रा के मार्ग निर्देशन में उप निरीक्षक महेन्द्र मिश्रा, अनिल कुमार, प्रधान आरक्षक मोहन तिवारी, आरक्षक देवेन्द्र, मोहन सिंह  एवं पंकज की सराहनीय भूमिका रही।