खराब ट्रांसफार्मर न बदलने पर विद्युत विभाग के कर्मचारियों पर कार्यवाही

#बुलंदशहर: #जिलाधिकारीडॉ0रोशनजैकब द्वारा ग्राम सराय स्याना देहात के प्राथमिक विद्यालय पर आयोजित #सबला-सलोनी कार्यक्रम के दौरान ग्रामीणों द्वारा की गई #विद्युतविभाग के अधिकारियों के विरूद्ध विद्युत संबंधी शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए उन्होंने धर्मेन्द्र कुमार उप खण्ड अधिकारी विद्युत वितरण उपखण्ड स्याना को कारण बताओ नोटिस एवं सचिन कुमार अवर अभियन्ता विद्युत वितरण उपखण्ड द्वितीय स्याना को प्रतिकूल प्रविष्टि देते हुए शिकायतों का निस्तारण आज ही किये जाने के निर्देश दिये।

आज जिलाधिकारी डॉ0 रोशन जैकब स्याना देहात में सबला-सलोनी कार्यक्रम में प्रतिभाग करने के पश्चात सराय स्याना देहात के नागरिकों द्वारा बताया गया कि उनके गांव में दलित बस्ती में 22 जून 2017 से विद्युत का #ट्रांसफार्मर खराब है इस ट्रांसफार्मर को दिनांक 28 जून 2017 को विद्युत विभाग के कर्मी बदलने के लिए उतारकर ले गये थे परन्तु अभी तक न तो सही कराया गया है और न ही बदला गया है। जिसके कारण नागरिकों को ऐसी भीषण गर्मी में अत्यन्त परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जिलाधिकारी ने कहा है कि शासन द्वारा 48 घंटे के अन्दर खराब ट्रांसफार्मर बदलने के आदेश है, परन्तु एक माह से अधिक अवधि बीत जाने के उपरान्त भी ट्रांसफार्मर नहीं बदला गया है जो घोर आपत्तिजनक है।

उन्होंने कहा कि शासन की निर्बाध विद्युत आपूर्ति की मूल मंशा के सर्वथा प्रतिकूल होने के साथ-साथ घोर लापरवाही स्वच्छाचारिता एवं शासन के आदेशों की स्पष्ट अवहेलना का द्योतक मानते हुए खराब ट्रांसफार्मर को आज ही बदलवाते हुए धर्मेद्र कुमार एसडीओ को निर्देशित करते हुए कहा है कि तीन दिन के अन्दर स्पष्टीकरण प्राप्त करें और इसके लिए इस कृत्य को घोर लापरवाही एवं शासन के निर्देशों की अवहेलना मानते हुए प्रतिकूल प्रविष्टि एवं अनुशासनात्मक एवं विभागीय कार्यवाही करने के लिए विवश होना पड़ेगा। उन्हांेने कहा कि समय के अन्तर्गत स्पष्टीकरण प्राप्त न होने पर एक पक्षीय कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी।

जिलाधिकारी ने इसी प्रकरण में सचिन कुमार अवर अभियन्ता को प्रतिकूल प्रविष्टि प्रदान करते हुए उल्लेख किया है कि ग्राम सराय स्याना देहात का ट्रांसफार्मर संज्ञान में होने के बावजूद भी ट्रांसफार्मर नहीं बदला गया। अतः इस कृत्य, घोर लापरवाही एवं शासन की निर्बाध विद्युत आपूर्ति की मूल मंशा के सर्वथा प्रतिकूल है। जिलाधिकारी ने इस संबंध में अधीक्षण अभियन्ता विद्युत द्वितीय एवं अधिशासी अभियन्ता खण्ड चतुर्थ को इस निर्देश के साथ दोनो अभियन्ताओं के विरूद्ध की गई कार्यवाहियों की प्रतियां तामील कर वापस भेजना सुनिश्चित करें एवं दोनों अभियन्ताओं की सेवा पुस्तिका में लाल स्याही से प्रविष्टि दर्ज करायें।