विद्यालयों में तैनात सरप्लस शिक्षकों का समायोजन पारदर्शिता के आधार पर कराया जाये: मुख्य सचिव

उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव श्री राजीव कुमार ने निर्देश दिये हैं कि बेसिक शिक्षा में तैनात चुनिंदा बेहतर परफाॅर्मेन्स देने वाले शिक्षकों को विदेश प्रशिक्षण हेतु भेजने के लिये कार्य योजना बनाई जाये। उन्होंने कहा कि आगामी वित्तीय वर्ष हेतु प्राथमिक विद्यालयों में अध्ययनरत् छात्रों को कम्प्यूटर की जानकारी उपलब्ध कराने हेतु कम्प्यूटर प्रशिक्षण दिलाया जाये।

उन्होंने कहा कि प्राथमिक विद्यालय में अध्ययनरत् सभी छात्रों को स्कूल बैग आदि का वितरण अगस्त माह तक शत-प्रतिशत कराया जाना सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने कहा कि आगामी वित्तीय वर्ष में छात्रों को निःशुल्क पाठ्य पुस्तकें, जूता-मोजा, स्कूल बैग, यूनिफाॅर्म व स्वेटर आदि का वितरण समय से सुनिश्चित कराने हेतु माहवार कैलेन्डर बनाया जाना सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने कहा कि विद्यालयों में तैनात सरप्लस शिक्षकों का समायोजन पारदर्शिता के आधार पर कराया जाये। मुख्य सचिव आज शास्त्री भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में बेसिक शिक्षा विभाग के कार्यों की समीक्षा कर सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दे रहे थे।

उन्होंने कहा कि 6-14 आयु वर्ग के समस्त छात्र-छात्राओं का विद्यालय में शत-प्रतिशत् नामांकन कराते हुये विद्यालयों में अध्यापकों की उपस्थिति सुनिश्चित कराई जाये। उन्होंने बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा 1.52 करोड़ छात्र-छात्राओं के सापेक्ष 62422568 छात्रों का आधार पंजीकरण कराये जाने के फलस्वरूप अवशेष छात्र-छात्राओं का भी आधार पंजीकरण कराये जाने हेतु अभियान चलाया जाये। श्री राजीव कुमार ने कहा कि राज्य स्तर पर मण्डलीय एवं जनपदीय शिक्षा अधिकारियों तथा जिला समन्वयकों के साथ नियमित मासिक बैठक एवं आवश्यकतानुसार वीडियोकान्फ्रेन्सिंग कर शिक्षा की गुणवत्ता को बढ़ाने हेतु निरन्तर माॅनिटरिंग सुनिश्चित की जाये।

उन्होंने कहा कि कस्तूरबा गांधी विद्यालयों में तैनात अध्यापकों का आवश्यकतानुसार प्रशिक्षण आगामी सितम्बर, अक्टूबर माह में ही करा दिया जाये। उन्होंने कहा कि वर्तमान वित्तीय वर्ष 2017-18 में अनुमोदित 912 अतिरिक्त कक्षा-कक्षों एवं 6158 शौचालयों का निर्माण कार्य निर्धारित मानक एवं गुणवत्ता के साथ कराने हेतु वरिष्ठ विभागीय अधिकारियों द्वारा निरन्तर माॅनिटरिंग सुनिश्चित की जाये।

मुख्य सचिव ने कहा कि हाउस होल्ड सर्वेक्षण में आउट आॅफ स्कूल पाये गये 25,887 छात्रों का नामांकन सम्बन्धित विद्यालयों में कराये जाने की प्रक्रिया में तेजी लाई जाये। उन्होंने कहा कि आउट आॅफ स्कूल छात्रों का 06 माह का ब्रिज कोर्स कराकर विशेष प्रशिक्षण आगामी सितम्बर माह के प्रथम सप्ताह से अवश्य प्रारंभ करा दिया जाये।

उन्होंने कहा कि विशेष आवश्यकता वाले बच्चों के लिये 10 माह का 95 आवासीय लर्निंग कैम्प का संचालन 01 अगस्त से प्रारंभ कराने हेतु सम्बन्धित जनपदों को नियमानुसार धनराशि अवमुक्त करा दी जाये। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि विशेष आवश्यकता वाले बच्चों का चिकित्सकीय प्रशिक्षण ब्लाॅक स्तर पर ही माह अगस्त, सितम्बर में ही अवश्य करा दिया जाये। बैठक में अपर मुख्य सचिव, बेसिक शिक्षा श्री आर0पी0 सिंह सहित बेसिक शिक्षा विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।