प्रधानपति की गिरफ्तारी के बाद दोनों पक्षों का गुस्सा फुटा

प्रयागराज : कौशांबी जनपद के करारी थाना क्षेत्र के हिसामपुर गांव में प्रधानपति कज्जन की गिरफ्तारी के बाद से दोनों पक्षों का गुस्सा फूट पड़ा। गुरुवार को मारपीट व लूटपाट की शिकायत करने एसपी आफिस आए दोनों पक्ष आमने-सामने आ गए। एसपी ऑफिस परिसर में इन लोगों ने ईंट-पत्थर चला दिया। दोनों पक्ष से दर्जन भर से अधिक लोग घायल हुए। सूचना पर पहुंची मंझनपुर कोतवाली व महिला थाने की फोर्स ने लोगों को परिसर के बाहर निकाला। दोनों तरफ से तहरीर ले ली गई है। हालांकि अब तक केस नहीं दर्ज हो सका है।पखवारा भर पहले हिसामपुर गांव रिश्तेदार के घर से लौट रही किशोरी के साथ दुष्कर्म की घटना हुई थी। मामले में मंझनपुर ब्लाक प्रमुख हरिमोहन यादव, हिसामपुर ग्राम प्रधानपति कज्जन व एक अन्य के खिलाफ केस दर्ज कराया गया था। फरार आरोपितों की तलाश में दबिश दे रहे सीओ मंझनपुर एसएन पाठक ने बुधवार को प्रधानपति कज्जन को गिरफ्तार कर लिया। इसकी जानकारी जब प्रधानपति पक्ष के लोगों को हुई तो रात के समय उन्होंने करारी थाने का घेराव कर लिया।इसके बाद डॉयल-100 के जरिए रात 11 बजे सूचना मिली कि आरोपित प्रधानपति के घर पर हिसामपुर गांव में रह रहे विपक्षियों ने हमला बोल दिया। घर की महिलाओं व बेटियों को बंधक बनाकर दो दर्जन से अधिक लोगों ने मारपीट करते हुए 50 हजार रुपये नकदी और लाखों रुपये कीमत के गहने लूट लिए। आननफानन में पुलिस फोर्स गांव पहुंची। गुरुवार सुबह गिरफ्तार हुए प्रधानपति को छुड़ाने के लिए तीन दर्जन से अधिक लोग एसपी आफिस पहुंचे।सीओ मंझनपुर ने उन्हें आश्वासन दिया कि प्रधानपति को हिरासत में लिया गया है। निष्पक्ष कार्रवाई की जाएगी। अचानक हिसामपुर गांव से आरोपित प्रधानपति का दूसरा पक्ष भी एसपी आफिस पहुंच गया। उसने भी शिकायती पत्र देते हुए प्रधानपति पक्ष के लोगों पर घर में घुसकर मारपीट व लूटपाट का आरोप लगाया। एक-दूसरे के खिलाफ दी गई मारपीट व लूटपाट की तहरीर की जानकारी होने पर दोनों पक्ष एसपी आफिस परिसर में ही आमने-सामने हो गए। दोनों तरफ से ईंट उठाकर वार करने लगे। साथ ही हाथापाई भी हुई। यह देख सीओ समेत एसपी आफिस में रहे पुलिसकर्मियों के होश उड़ गए। सभी लोग भागकर आफिस से बाहर आए और उन्हें समझाने लगे। मंझनपुर व महिला थाना की फोर्स ने भी उन्हें समझाकर वहां से हटाया। मारपीट में प्रधानपति पक्ष से मरियम, शमा, शैमा, जुबैदा, जरीना, शमीमा, शबनम और दूसरे पक्ष से अलीकुन, साहिबा, शबा, शमीमा, अख्तरी, सहाना आदि घायल हुईं। प्रधानपति को पुलिस ने कोर्ट में किया पेश  प्रधानपति की गिरफ्तारी के बाद उनके समर्थक हंगामा करेंगे। इस बात की आशंका करारी पुलिस को पहले से ही थी। इसलिए बुधवार की शाम गिरफ्तारी के बाद आरोपित प्रधानपति को चरवा थाने में लाकर रखा गया। वहीं एसपी आफिस पहुंचे दोनों पक्ष के लोगों के बीच जिस समय हंगामा व मारपीट चल रही थी। उस बीच सीओ मंझनपुर ने आनन-फानन में करारी व चरवा इंस्पेक्टर को फौरन आरोपित प्रधानपति को कोर्ट ले जाने के निर्देश दिए। चोरी-छिपे दो थानों की पुलिस ने प्रधानपति को अदालत में पेश किया। कोर्ट के आदेश पर उसे जेल भेज दिया गया। इस दौरान अदालत परिसर के बाहर भी सुरक्षा के लिहाज से पर्याप्त फोर्स तैनात की गई थी। हिसामपुर गांव में तनाव, पुलिस फोर्स तैनात  प्रधानपति कज्जन की गिरफ्तारी के बाद से हिसामपुर गांव में दो पक्षों के बीच तनाव की स्थिति बनी हुई है। प्रधानपति पक्ष के लोगों ने गिरफ्तारी की जानकारी होने पर रात के समय करारी थाना में हंगामा किया। इस बीच जानकारी हुई कि आरोपित के घर पर दूसरे पक्ष के लोगों ने मारपीट करते हुए लूटपाट किया। मामला तनावपूर्ण देख गांव में फौरन सीओ मंझनपुर ने पुलिस फोर्स तैनात कर दिया। क्यूआरटी फोर्स को दो शिफ्टों में ड्यूटी के लिए लगाया गया है। एसपी आफिस में एक पक्ष प्रधानपति को बेकसूर बताकर छोड़ने की मांग करने के लिए आया था। जबकि दूसरा पक्ष उन्हीं लोगों पर घर में घुसकर मारपीट व लूटपाट की शिकायत करने आया था। इसे लेकर दोनों पक्ष आमने-सामने आ गए। दोनों पक्ष में मारपीट व हाथापाई हुई है। ईंट-पत्थर उठाए गए थे लेकिन चलाए नहीं गए।[ब्यूरो रिपोर्ट प्रयागराज]