पूर्व मंत्री बब्बू पर एआरटीओ संतोष पाल द्वारा लगाए गए आरोप के विरोध में एजेंटों ने दुकानें बंद कर किया विरोध प्रदर्शन

इस ख़बर को शेयर करें:

जबलपुर। जननेता पूर्व मंत्री मध्य प्रदेश शासन हरेंद्रजीत सिंह बब्बू के ऊपर पैसे मांगने के जो आरोप एआरटीओ संतोष पाल ने आरोप लगाए हैं वह सिरे से खारिज करते हैं एवं एआरटीओ संतोष पाल है जो जबलपुर में कई लोगों पर एसटी एससी एक्ट लगाकर झूठा मुकदमा लगाकर जेल भिजवा चुका है या तो स्वयं या फिर अपनी पत्नी के द्वारा झूठा मुकदमा बनवाने में माहिर है तथा कई बेगुनाहों को इस एक्ट में फंसा कर जेल भिजवा चुका है।

यह पाल दंपत्ति झूठा बोलने में माहिर है पाल दंपत्ति के कारनामों की लोकायुक्त ने जांच लंबित है हाईकोर्ट में जाति प्रमाण पत्र को लेकर जिसका केस नंबर डब्ल्यूपी 11805 /2016 केस चल रहा है ऐसे आदमी से क्या कोई पैसे की मांग कर सकता है कानून के खिलाफ नियमों को ताक में रखकर नेशनल हाईवे रोड पर बीच सड़क पर खड़े होकर अवैध वसूली की जा रही है।

जबलपुर बायपास रायपुर नागपुर रीवा इलाहाबाद सागर रोड पर एआरटीओ संतोष पाल के द्वारा अवैध वसूली का धंधा किया जा रहा है इन्हीं सब करतूतों का विरोध करने पर एआरटीओ संतोष पाल ने पैसे मांगने का आरोप लगाया है जिसकी निंदा करते हैं जिसके विरोध स्वरूप सभी आरटीओ एजेंट ने अपनी दुकानें बंद कर और प्रदर्शन कर अपना विरोध प्रदर्शन किया है सोमवार को सभी आरटीओ एजेंट एवं सिख संगत द्वारा जबलपुर कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक को आरोपों के खिलाफ ज्ञापन सौंपेंगे।

जबलपुर एआरटीओ संतोष पाल के द्वारा पूरे आरटीओ कार्यालय को दलालों का अड्डा गुंडों का अड्डा बनाए जाने एवं आरटीओ में बैठकर खुलेआम रिश्वत मांगने पैसा मांगने और जनता की मेहनत की कमाई से करोड़ों रुपए की बेईमानी संपत्ति एकत्रित कर जनता को लूटने का काम एआरटीओ संतोष पाल ने किया है।

आरटीओ एजेंट एकत्रित होकर एआरटीओ संतोष पाल को निलंबित करने बेमानी संपत्ति की जांच करने पाल दंपत्ति द्वारा किए जा रहे एआरटीओ कार्यालय को अपना दलाली का अड्डा बनाए जाने के खिलाफ सभी आरटीओ एजेंट एवं जबलपुर नागरिक एवं सिख संगत अब आंदोलन की राह पर चल पड़े हैं इसी कड़ी में कल दिनांक 06.11.2020 को आरटीओ कार्यालय के सामने धरना प्रदर्शन किया गया और आज 7:00 11 2020 को सभी आरटीओ एजेंटों ने अपनी दुकानें बंद कर एआरटीओ संतोष पाल के खिलाफ नारे लगाकर अपना विरोध प्रकट किया।