अखिलेश जी आप तो विदेश से पढ़ आए, लेकिन मेरे गरीब बच्चे क्या करें : मोदी

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पांचवें चरण के प्रचार के लिये गोंडा पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा प्रदेश में सपा सरकार ने कानून पूरी तरह से खत्म हो गया है। लेकिन भगवान शिव की तरह भारत के लोंगों में तीसरी आंख है जिससे वह सही गलत का पता लगा लेता है। मोदी ने कहा कि एसी और बंद कमरों में बैठकर देखने वालों को पता नहीं चल रहा होगा कि भाजपा की कैसी आंधी चल रही है।

यहां हर दिन झूठ बोलने और उसे फैलाने वालों की कमी नहीं है। 15 साल से सपा बसपा रोज झगड़ते थे लेकिन नोटबंदी के बाद दोनो एक ही बात बोलने लगे। जिस-जिस का पैसा लुटा है, वो एक तरफ इकठ्ठे हो गए हैं। मायावती और मुलाय सिंह जी ने तो संसद में कह दिया था, कुछ दिन का वक्त तो दे दो। जब से मैने भ्रष्टाचार और कालेधन के खिलाफ लड़ाई चालू की है, बड़े-बड़े लोग मेरे पीछे पड़ गए।

कल महाराष्ट्र के चुनाव के नतीजे आए, कांग्रेस पूरी तरह से साफ हो गई। लोगों ने भाजपा का पूरा समर्थन किया और अपना आशीर्वाद दिया। ओडिशा में अभी चुनाव हुआ, भाजपा को इतना जनसमर्थन दिया कि देश के बाकी दल चौंक गए। कालेधन के खिलाफ जो लड़ाई शुरू की, उस लड़ाई को छोड़ने वाला नहीं हूं। हम सामान्य मानव के जीवन में बदलाव करना चाहते हैं इस समर्थन से हमें नशा नहीं होता, जबकि प्रेरणा मिलती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जनता के समर्थन से हमें सत्ता का नशा नहीं चढ़ता है, काम करने का जज्बा पैदा होता है। भ्रष्टाचार व कालाधन के खिलाफ जो लड़ाई छेड़ी है देश को लूटने वालों को छोड़ने वाला नहीं हूं। जो पैसा गरीबों से लूटा गया है वह गरीबों को लौटाना चाहता हूं। आम आदमी की जिंदगी में बदलाव लाना चाहता हूं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि थोक व फुटकर दो तरह के व्यापार होते हैं। गोंडा में चोरी करने की नीलामी होती है। चोरी के लिए टेंडर भी निकाला जाता है। परीक्षा का केंद्र बनाने के लिए बोली लगाई जाती है। विषयवार पैसा तय किया जाता है। इस पर रोक लगाना चाहिए। मोदी ने कहा यहां तो परीक्षा का केंद्र बनाने के लिए टेंडर लगता है,परीक्षा में भी पेपर के लिए बोली लगती है।इससे किसी का भी भला नहीं हो सकता है।

अखिलेश जी आप तो ऑस्ट्रेलिया जाकर पढ़ आए, लेकिन मेरे गोंडा के गरीव बच्चों का क्या होगा?। किसान अगर फसल काट कर रखते हैं, 15 दिनों के अंदर नुकसान हो गया फिर भी बीमा का पैसा मिलेगा। हम ऐसा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना लाए हैं, जिसमें किसान अगर बुआई नहीं कर पाया तो भी उसे पैसा मिलेगा। मैं गन्ना किसानों के लिए एक टास्क फोर्स बनाकर, उसे तौलने का आधुनिक विकल्प बनाऊंगा, जिससे धोखेबाजी न हो।

मैं यूपी के काशी से सांसद बनकर देश की सेवा कर रहा हूं। उत्तर प्रदेश के कारण ही देश में स्थिर सरकार बनी है। बीमा की जरूरत गन्ना किसानों को नहीं होती है, लेकिन अखिलेश सरकार ने गन्ना किसानों को बीमा के लिए मजबूर किया। इस बीमा के अंतर्गत 100 में 2 रुपया देना पड़ता है, लेकिन फिर भी अखिलेश सरकार नहीं कर पाई। जहां-जहां भाजपा की सरकार है, वहां 50 फीसदी से ज्यादा किसानों का बीमा हुआ। लेकिन उत्तर प्रदेश में 14 फीसदी से ज्यादा बीमा नहीं हुआ