एलेस्टेयर कुक ने विदाई टेस्ट में जमाया शानदार शतक

इस ख़बर को शेयर करें:

भारत के ख़िलाफ़ ओवल में अपने आख़िरी टेस्ट में इंग्लिश बल्लेबाज़ एलेस्टेयर कुक ने टेस्ट करियर का 33वां शतक लगा,भारतीय टीम के ख़िलाफ़ अपने टेस्ट का सातवां शतक लगाया। कुक टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बांए हाथ के बल्लेबाज़ के तौर पर सामने है।जबकि ओवरऑल के तौर पर उनसे अधिक रन अब सचिन तेंदुलकर, रिकी पोंटिंग, जैक कैलिस और राहुल द्रविड़ के नाम पर दर्ज हैं।

एक शानदार बल्लेबाज़ और एक सफल कप्तान के तौर पर इंग्लैंड क्रिकेट में हरदम अपनी एक अलग पहचान रखने वाले एलेस्टेयर कुक का रूतबा विदाई टेस्ट में भी चरम पर रहा,जहां इस बल्लेबाज़ ने अपने आख़िरी टेस्ट की आख़िरी पारी में रनों का अंबार लगाते हुए टेस्ट करियर का 33 वां शतक जड़ दिया।

कुक की पारी बेमिसाल रहीं,उनकी इस पारी की बदौलत टीम इंडिया ओवल टेस्ट इंग्लैंड हरदम फ्रंट सीट पर सवार रही। लेकिन कुक की पारी की बात की जाए तो इस पारी में संयम और ख़राब गेंद को बाउंड्री पर पहुंचाने की कला दोनो दिखाई दी।

कुक ने ओवल टेस्ट की पहली पारी में जहां 71 रन बनाए वहीं दूसरी पारी में इस बल्लेबाज़ ने 147..रन की पारी खेली।ख़ास बात ये रही कि एलेस्टेयर कुक अपने टेस्ट करियर के पहले और आख़िरी टेस्ट में शतक लगाने वाले इंग्लैंड के पहले और दुनिया के पांचवें बल्लेबाज़ रहे।वैसे सबसे ज्यादा संयोग इस बात का रहा कि उनका पहला शतक भी टीम इंडिया के ख़िलाफ़ आया था।

कुक की इस पारी ने एक और रिकॉर्ड उनके साथ जोड़ दिया ये रिकॉर्ड रहा 141 साल के टेस्ट इतिहास में वो दूसरे ऐसे बल्लेबाज़ के तौर पर सामने आए जिसने पहले और अंतिम टेस्ट की दोनो पारियों में फिफ्टी प्लस का स्कोर किया।इंग्लैंड के लिए टेस्ट क्रिकेट में बल्ले से सबसे ज्यादा रन कमाने वाले इस बल्लेबाज़ ने यकीनी तौर पर विश्व क्रिकेट पर अपनी एक ऐसी छाप छोड़ी है जो युवा क्रिकेटरों के लिए एक बड़ी मिसाल के तौर पर सामने है।