इलाहाबाद नगर निगम घोटाला: पार्किंंग शुल्क चट कर गए अधिकारी

इलाहाबाद : नगर निगम में पार्किंग शुल्क घोटाला पकड़ा गया। अपर नगर आयुक्त रितु सुहास ने औचक जांच की तो मामला सामने आया। अपर नगर आयुक्त ने मामले की जांच के लिए कमेटी गठित कर दी है। अपर नगर आयुक्त ने नजूल विभाग में पार्किंग शुल्क पर अचानक पूछताछ शुरू की। उन्होंने शुल्क के बदले काटी जाने वाली रसीद दिखाने को कहा तो विभाग के कर्मचारी क्रम में रसीद नहीं दिखा सके। कई रसीद की इंट्री रजिस्टर में नहीं मिली।

पूछताछ में सड़क किनारे खड़े वाहनों को पकड़ने के लिए नगर निगम की क्रेन से होने वाली आय का मामला उठा। नजूल विभाग में इसका भी ब्योरा नहीं मिला। अपर नगर आयुक्त ने सिविल लाइंस स्थित मल्टीस्टोरी पार्किंग की जांच की तो वहां भी गड़बड़झाला मिला।

एक के बाद एक गड़बड़ी मिलने पर अपर नगर आयुक्त ने जांच के लिए कमेटी बनाई। मुख्य नगर लेखा परीक्षक जंग बहादुर, लेखाधिकारी चंद्रपाल मौर्य, सहायक लेखाधिकारी रामलखन, वरिष्ठ लेखा परीक्षक विमलकांत कमेटी में शामिल किए गए हैं। कमेटी जांच रिपोर्ट अपर नगर आयुक्त को देगी।