अमर सिंह का क्षत्रिय रूप देख कर दहसत में अखिलेश-आज़म

इस ख़बर को शेयर करें:

माजवादी पार्टी (सपा) के पूर्व नेता और राज्यसभा सदस्य अमर सिंह ने सपा मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और आजम खान पर एक विडियो जारी कर जोरदार हमला बोला है। बेहद गुस्से में नजर आ रहे अमर ने आजम पर जमकर निशाना साधा और उन्हें राक्षस तक बता डाला। पूर्व एसपी नेता ने अखिलेश के परिवार पर किए गए अहसानों को गिनाते हुए कहा कि जब उनके परिवार पर मुसीबत आई तो उन्हें देखने तक कोई नहीं आया।

नमाजवादी पार्टी के अध्यक्ष हैं अखिलेश- अमर सिंह
अपने ऑफिशल फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट किए गए विडियो में अमर सिंह ने कहा, ‘समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि विष्णु का मंदिर बनाना है। अखिलेश यादव तुम्हें विष्णु का मंदिर बनाने का अधिकार है। तुम समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष नहीं हो, नमाजवादी पार्टी के अध्यक्ष हो।

तुम्हारा बनाया हुआ, तुम्हारे पिता का बनाया हुआ राजनीतिक पुत्र मोहम्मद आजम खान ने बयान दिया है कि अमर सिंह जैसे लोगों को काटना चाहिए। उनकी जुबान हो रही है कि बेटियों पर तेजाब फेंकना चाहिए… बेटियां तुम्हारी भी हैं, बेटियां तुम्हारे परिवार में अन्य लोगों की भी हैं। बहुएं हैं, पत्नियां हैं।’

आजम को अमर ने कहा राक्षस
राज्यसभा सांसद अमर सिंह ने कहा, ‘…जब हम अनावश्यक कारणों से तुम लोगों की राजनीति के कारण जेल में बंद थे तो हमारे बच्चों के आंसू पोछने ना तुम आए, ना तुम्हारे पिता आए और ना तुम्हारा परिवार आया। तुम विष्णु का मंदिर बनाओगे… नमाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश।

तुम्हारा पाला हुआ, तुम्हारा पैदा किया हुआ तैमूर लंग अलाउद्दीन खिलजी, नादिर शाह अब्दाली महमूद गजनवी की नस्ल और संस्कृति का राक्षस आजम खान हमारी बेटियों को तेजाब से नहलाने की बात करता है और हमें काटने की बात करता है।’

अमर बोले- हर चुनौती के लिए हूं तैयार
अमर सिंह विडियो में कहते हुए नजर आ रहे हैं, ‘मैं उत्तर प्रदेश और हिंदुस्तान के हिंदू समाज से कहूंगा, मुझे यदि इसके लिए सांप्रदायिकता का तमगा मिलता है तो बेशक मिले। अगर धर्मनिरपेक्षता का मतलब है अपने स्वाभिमान से समझौता करना तो ऐसी धर्मनिरपेक्षता से मैं कान पकड़ता हूं।

कलाम जैसे राष्ट्रभक्त मुसलमानों का सम्मान मैं कर सकता हूं, लेकिन अलाउद्दीन खिलजी, महमूद गजनवी की नस्ल और संस्कृति के मोहम्मद आजम खान का जो अपने आदर्श मुलायम सिंह का जन्मदिन मनाने के बाद खुलेआम अब्दुल सलीम और दाउद इब्राहिम को बताता है कहता है गुलाम नबी आजाद हिंदुस्तान का वजीर ही नहीं है क्योंकि वह उस कश्मीर से आता है जिसके लिए आजतक तय नहीं हुआ कि यह हिंदुस्तान का है भी या नहीं। जो हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आतंकवादी कहता है, खुलेआम हमारी भारतमाता को डायन कहता है।’

जानिए, आजम ने क्या दिया था बयान
बता दें एक निजी न्यूज चैनल से बातचीत में आजम खां ने अमर सिंह के बयान पर कहा, ‘जिस दिन ये या फिर इन जैसे लोग दंगों में मारे जाएंगे और इनके परिवार के लोग काटे जाएंगे तो हिंदुस्तान में दंगे बंद हो जाएंगे। …जिस दिन इनके बच्चे तेजाब में गलाए जाएंगे तो न मुजफ्फरनगर होगा न गुजरात होगा।’