अमेरिकी ने पेश किया इजरायल और फलस्तीन विवाद को सुलझाने की योजना

इस ख़बर को शेयर करें:

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मंगलवार को कहा कि यरुशलम का बंटवारा नहीं होने जा रहा है और वह इजरायल की अविभाजित राजधानी बनी रहेगी। ट्रम्प ने फिलिस्तीनी राज्य के निर्माण के लिए पूर्वी यरुशलम को राजधानी के रूप का प्रस्ताव रखा।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने मध्य-पूर्व में शांति स्थापित करने के लिए अपनी बहुप्रतीक्षित योजना का ऐलान कर दिया है। ट्रंप ने कहा है कि ‘यरुशलम इज़राइल की अविभाजित राजधानी” रहेगी।‍‍‍ व्हाइट हाउस में इज़राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के साथ शांति योजना पेश करते हुए ट्रंप ने कहा कि इज़राइल ने शांति की दिशा में “बड़ा कदम’ उठाया है।

उन्होंने फलस्तीन की राजधानी के लिए पूर्वी यरुशलम का प्रस्ताव दिया। ट्रंप ने कहा, यह फलस्तीनियों के लिए अंतिम मौका हो सकता है। हांलाकि उन्होंने कहा कि इसके तहत किसी भी इसरायली या फ़लस्तीनी को उनके घरों से उजाड़ा नहीं जाएगा।

फ़लस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप की ओर से जारी किए गए पीस प्लान को ख़ारिज कर दिया है। अब्बास ने कहा कि हमारे सभी अधिकार बिकाऊ नहीं हैं और उन्हें लेकर किसी तरह का समझौता नहीं किया जा सकता है।

उन्होंने कहा, “कोई भी फ़लस्तीनी कभी भी एक ऐसे देश को स्वीकार नहीं कर सकता जिसकी राजधानी यरूशलम में हो। इससे पहले मंगलवार को ग़जा पट्टी में हज़ारों फ़लस्तीनियों ने इस पीस प्लान के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन किया।