अनूपपुर: एसिड से हमले के आरोपित की जमानत हुई निरस्त

Tags:
इस ख़बर को शेयर करें:

अनूपपुर। एसिड से हमला कर जलाने वाले 19 वर्षीय आरोपित माखन कोल पुत्र कादूलाल निवासी ग्राम मुडघोवा थाना कोतमा की (अग्रिम) जमानत याचिका पर द्वितीय जिला एवं अपर सत्र न्यायाधीश कोतमा रविन्द्र कुमार शर्मा की न्यायालय ने अपर लोक अभियोजक शैलेन्द्र सिंह के तर्को से सहमत होते हुए निरस्त कर दी।

मीडिया प्रभारी राकेश पाण्डेय ने शुक्रवार को बताया कि थाना कोतमा में गत 27 सितम्बर को धारा 326-ए की दर्ज रिपोर्ट की जांच किया, जिसमें आरोपित द्वारा पीडि़त को 26 सितम्बर को शाम 06 बजे फोन करके प्राथमिक शाला स्कूल मुढधोवा के पास धोखे से बुलाया और पुरानी रंजिश को लेकर अपने जेब में रखे एसिड की सीसी निकालकर पीडि़त के उपर फैंक दिया, जिससे दाहिना हाथ और पैर एवं गला जल गया। मामला अभी विचाराधीन है। आरोपित अपने को मामले में गिरफ्तारी से बचाने के लिए अग्रिम जमानत आवेदन प्रस्तुत किया था।

आरोपित ने अग्रिम जमानत आवेदन में बताया कि पुरानी रंजिश के कारण झूठा फंसाया गया है। जिसपर अभियोजन अपर लोक अभियोजक ने जमानत आवेदन का विरोध करते हुए न्यायालय को बताया कि एसिड फेंककर पीडि़त को गला, हाथ एवं पैर में जलने से गंभीर घाव हो गया हैं जिसकी गंभीरता को देखते हुए प्रथम दुष्ट्या मामला निराधार प्रतीत नही होता। उभयपक्षों के तर्को को सुनने के पश्चात न्यायालय अभियोजन के तर्को से सहमत होते हुए आरोपी की जमानत याचिका निरस्त कर दी।