असम में सरकारी कर्मचारियों के लिए “अपुन घर होम लोन योजना”

इस ख़बर को शेयर करें:

अपुन घर योजना असम सरकार के कर्मचारियों के लिए एक नई होम लोन योजना है जिसके अंतर्गत राज्य सरकार के कर्मचारियों को होम लोन की ब्याज दरों पर सब्सिडी प्रदान की जायेगी। असम सरकार ने अपने कर्मचारियों को कम ब्याज दरों पर होम लोन देने के लिए भारतीय स्टेट बैंक के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं।

अपुन घर गृह लोन योजना

अपुन घर योजना के अंतर्गत राज्य सरकार सरकारी महिला कर्मचारियों को 5% की ब्याज दर पर और पुरुषों कर्मचारियों को 5.5% ब्याज दर पर आवास लोन प्रदान करेगी। लोन बिना संपार्श्विक सुरक्षा (collateral security) और प्रसंस्करण शुल्क (processing fee) पर प्रदान किया जाएगा।

अपुन घर आवास लोन योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के सभी निवासियों को आवास प्रदान करना है। हालांकि, प्रधान मंत्री आवास योजना राज्य के सभी शहरों और शहरों में भी चल रही है जिसके तहत होम लोन की ब्याज दरों पर सब्सिडी दी जा रही है।

अपुन घर होम लोन योजना के तहत राज्य सरकार के कर्मचारियों को 3.5% की ब्याज सब्सिडी के साथ 15 लाख रुपये तक का लोन मिल सकता है। ब्याज दरों पर सब्सिडी मिलने से मासिक किस्तों में काफी कमी आएगी और राज्य सरकार के कर्मचारियों को कम ब्याज भी देना पड़ेगा।

अपुन घर गृह ऋण – ब्याज दरें और सब्सिडी

Particulars Men Women
Loan Amount Rs. 15 Lakh Rs. 15 Lakh
Interest Subsidy 3.5% 3.5%
Interest Rate after Subsidy 5.5% 5%
Maximum Loan Tenure 20 Years 20 Years
Effective EMI (for a loan of Rs. 15 Lakh for 20 Years)
Before Subsidy Rs. 13,017 Rs. 13,017
After Subsidy Rs. 10,318 Rs. 9,899

अपुन घर गृह ऋण योजना के लिए योग्यता

हालांकि, अपुन घर गृह लोन योजना समाज के कम आय वर्ग से संबंधित सरकारी कर्मचारियों को लक्षित है लेकिन यह योजना सभी के लिए लागू होगी। वही सरकारी कर्मचारी अपुन घर गृह लोन योजना के लिए योग्य हैं जो कि कम से कम 21 वर्ष की आयु के हैं और पांच साल की अवशिष्ट सेवा (Residual Service) राज्य सरकार को दे चुके हैं।

अपुन घर गृह लोन के लिए आवेदन कैसे करें

राज्य सरकार के कर्मचारियों को अपुन घर की योजना के लिए आवेदन करने के लिए बैंक शाखा जाने कीआवश्यकता नहीं है। वे इस योजना का लाभ लेने के लिए संबंधित जिला ड्राइंग और संवितरण अधिकारी को अपना अनुरोध जमा कर सकते हैं। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के पास अगले साल मई तक इस तरह के 10000 होम लोन देने का लक्ष्य है।