चाकू से हमला कर नगदी रूपये छीनने वाले 3 लुटेरे गिरफ्तार 1 फरार, घटना में प्रयुक्त मोटर सायकिल जप्त
इस ख़बर को शेयर करें

जबलपुर। थाना खितौला में राजू उर्फ मारू पटैल उम्र 46 वर्ष निवासी मानेगांव गोसलपुर ने रिपोर्ट दर्ज करायी थी की वह अपने टै्रेक्टर से गांव गांव जाकर जुताई बोनी का काम करता है लगभग 2 बजे खागा मउ गया था जहां पर उसके ट्रेक्टर की बैटरी खराब हो गयी थी तो राकेश सेन निवासी खागा मउ को अपनी मोटर सायकल क्रमांक एमपी 20 एनबी 5135 में बैटरी लेकर बैठाया और बेटरी लेकर सिहोरा मिस्त्री के यहां गया था, मक्खन मिस्त्री ने बेटरी को चैक कर चार्ज में लगा दिया तब वह अपनी मोटर सायकिल से राकेश को बैठाकर पुनः ग्राम कुर्रे होकर खागामउ जा रहा था लगभग 4-30 बजे शाम जैसे ही हम लोग मझगवां वाईपास कचरा घर के पहले पहुचे थे तभी सामने से एक मोटर सायकल में बैठे 2 अज्ञात लड़के रोड में मोटर सायकिल लहराते हुये उसकी ओर आ रहे थे।

इसलिये उसने अपनी मोटर सायकल रोड के किनारे खड़ी कर दिया इसी बीच 02 अन्य अज्ञात लड़के भी पैदल हमारे पास पहुचे तब मोटर सायकिल से उतरकर एक लड़का उसके पास आकर बोला कि तेरे पास जो भी पैसा है,  निकाल कर दे दे, तो उसने कहा कि उसके पास पैसे नहीं हैं, तो पीली टीशर्ट पहना हुआ लड़का जिसकी उंचाई लगभग 5 फिट 6 इंच एवं शरीर मजबूत था ने अपने जेब से चाकू निकाला और हमला कर उसकी दोनों जांघों मे चोटें पहुचा दी और चारों  उसके तथा उसके साथी  के साथ मारपीट करते हुये उसकी जेब में पन्नी में रखे हुये 4 हजार रूपये , पेन कार्ड, आधारकार्ड, उसके टेक्टर के कागज छीन लिये, तथा चारों काले रंग की बिना नम्बर की एक ही मोटर सायकल में  बैठकर पान उमरिया वाईपास तरफ भाग गये। चारों की उम्र लगभग 20-25 वर्ष की रही होगी,  रिपोर्ट पर धारा 394 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) द्वारा घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये पतासाजी करते हुये आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु आदेशित किये जाने पर अति. पुलिस अधीक्षक ग्रामीण श्री शिवेश सिंह बघेल एवं  एसडीओपी सिहोरा श्रुत कीर्ति सोमवंशी (भा.पु.से.)  के मार्ग निर्देशन मे थाना सिहोरा एवं थाना खितौला में पदस्थ अधिकारी/कर्मचारियों की एक संयुक्त टीम गठित की गयी।  

गठित टीम द्वारा घटना स्थल के आसपास लगातार पतासाजी की गयी, दोैरान पतासाजी के संदेही  अभिषेक उर्फ हनी पिता भगवान दास श्रीवास  निवासी स्टेट बैक कालोनी सिहोरा, को अभिरक्षा में लेते हुये पूछताछ की गयी जिसने अपने अन्य तीन साथियों  रितिक यादव निवासी सिहोरा, शांतनु उर्फ वासु उपाध्याय निवासी मझौली एवं हनी यादव निवासी माढोताल जबलपुर के साथ मिल कर लूट करना स्वीकार किया । सरगर्मी से तलाश कर रितिक यादव निवासी सिहोरा, शांतनु उर्फ वासु उपाध्याय निवासी मझौली को अभिरक्षा मे लिया गया।

सघन पूछताछ करने पर पाया गया कि दिनांक 08.10.2020 को सिहोरा में लूट के ईरादे से  वासु उपाध्याय की न्यू सीटी 100 मोटर सायकिल से सरदा खितौला बायपास पर स्थित कचरा नष्टीकरण प्लाण्ट के पास चारों पहुंचे,   हनी उर्फ अभिषेक श्रीवास व वासु उपाध्याय, रोड के किनारे झाड़ियो के पीछे छिप गये तथा हनी यादव और रितिक यादव  मोटर सायकिल लहराते हुये रास्ते पर आ रही एक मोटर सायकिल जिसमें दो व्यक्ति सवार थे के सामने अड़ा दिये, तब हनी श्रीवास व वासु उपाध्याय भी दौड़कर उनके पास पहुंच गये, हनी यादव ने राजू पटेल से पैसे मांगे, राजू पटेल द्वारा पैसे न होना कहने पर हनी यादव ने चाकू से  दोनो जाघों में हमला कर राजू पटेल को घायल कर दिया तथा हनी श्रीवास व वासु ने राजू के साथी राकेश सेन को पीछे से पकड़ लिया तो हनी यादव ने चाकू से कंधे व पैर पर चोट पहुचा दी , रितिक यादव ने  राजू पटेल के जेब सें एक पन्नी निकाला जिसमें पैसे व कागजात रखे थे, जिसे छीनकर चारो  मोटर सायकिल से कुर्रे मार्ग से सिहोरा भाग गयेे, रास्ते में रेल्वे पुल के पास लगे पुराने बरगद के पेड़ के पास पन्नी में रखे 4000 रूपये निकाल कर कागजात उसी पन्नी में रखकर वहीं फेककर सिहोरा चले गये थे।  

आरोपी 1.अभिषेक उर्फ हनी पिता भगवान दास श्रीवास उम्र 19 साल निवासी स्टेट बैक कालोनी सिहोरा, थाना सिहोरा   2.शांतनु उर्फ वासु पिता उमेश उपाध्याय उम्र 19 साल निवासी वार्ड नं0 8 मझौली थाना मझौली  3.रितिक पिता रितेश यादव उम्र 20 साल निवासी कंकाली मोहल्ला सिहोरा, की निशादेही पर छीने हुये रूपयों में से 1000 रूपये,  तथा घटना में प्रयुक्त एक बजाज सीटी 100 मोटर सायकिल हरे रंग की बिना नंबर की जप्त करते हुये तीनों को प्रकरण मे विधिवत गिरफ्तार किया गया। फरार आरोपी हनी यादव की तलाश जारी है।    

उल्लेखनीय भूमिका – लूट के आरोपियों को गिरफ्तार करने में थाना प्रभारी सिहोरा निरीक्षक गिरीष धुर्वे, प्रभारी थाना खितौला उप निरीक्षक अशोक मरावी, उप निरीक्षक महेन्द्र सिंह जाटव, उप निरीक्षक प्रियका भटट, सहायक उप निरीक्षक जी0सी0 चैधरी, आरक्षक अमित रैकवार, आरक्षक संदीप द्विवेदी, छोटे सिंह आरक्षक रमेश चैधरी, मिराज खान, राजीव सिंह, परमजीत यादव, प्रदीप, राकेश सिंह, लक्ष्मी प्रसाद तथा सायबर सेल के दुर्गेश दुबे, भगवान सिंह की सराहनीय भूमिका रही है।