अजमेर ब्लास्ट में असीमानंद बरी एवं तीन लोग दोषी

दिल्ली@ अजमेर दरगाह बम ब्लास्ट मामले में स्वामी असीमानंद को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया गया है। इसी मामले में विशेष न्यायधीश तीन लोगों को दोषी करार दिया गया है। जिनके नाम सुनील जोशी, देवेंद्र गुप्ता और भावेश पटेल हैं। सजा का एलान 16 मार्च को होगा। 11 अक्टूबर 2007 को शाम 6.15 बजे रोजा इफ्तार के वक्त दरगाह में बम ब्लास्ट हुआ था। तीन लोग मारे गए थे जबकि 15 घायल हुए थे। मौके से मिले बैग में एक जिंदा बम भी था। इसे डिफ्यूज कर दिया गया था।

राजस्थान एटीएस ने 20 अक्टूबर 2010 को अजमेर में तीन आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट पेश की थी। एक अप्रेल 2011 को एनआईए ने यह केस ले लिया। एनआईए ने 13 आरोपियों के खिलाफ चालान पेश किया था। आठ आरोपी 2010 से जेल में हैं। एक आरोपी चन्द्रशेखर लेवे जमानत पर बाहर है। दोषी करार दिए गए लोगों में से एक सुनील जोशी की हत्या हो चुकी है। संदीप डांगे, रामजी कलसांगरा और सुरेश नायर फरार हैं