आत्मनिर्भर प्रतियोगिता में बिहार के अनुराग के बनाये एप को मिला पहला स्थान

बेगूसराय के रहने वाले अनुराग ने आत्मनिर्भर प्रतियोगिता में भाग लिया. आईटी इंजीनियर अनुराग ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर एक ऐप बनाया कैप्शन प्लस. कैप्शन प्लस एप को प्रधानमंत्री मोदी द्वारा शुरू किए गए आत्मनिर्भर भारत प्रतियोगिता में शामिल किया गया और यह पूरे भारत में विजेता बना.

पूरी तरह से भारतीय इस एप्प की खासियत यह है कि यह सोशल मीडिया पर लोगों को कैप्शन बनाने में सहूलियत देती है. जो कैप्शन घंटों सोचते हैं इस ऐप के माध्यम से मिनटों में मिल जाता है.
कैप्शन प्लस लेखकों के लिए भी एक शानदार मंच प्रदान करता है. पूरी दुनिया में कैप्शन प्लस के 22 लाख यूजर्स हैं तथा इसे दुनिया के हर कोने से लोग इस्तेमाल करते हैं. गूगल प्ले स्टोर पर कैप्शन प्लस एप अपनी श्रेणी में प्रथम स्थान पर है.

डाटा सिक्योरिटी, गोपनीयता, ईज ऑफ यूज जैसे कई मानकों पर खरा उतारकर अनुराग के इस ऐप को पूरे भारत में नंबर वन एंटरटेनमेंट एप करार दिया गया है. पुरस्कार के रुप में 20 लाख रुपए और सर्टिफिकेट, ट्रॉफी दिया जाएगा. अनुराग की सफलता से उनके परिवार वाले भी काफी खुश हैं. अनुराग ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता पिता बहन एवं दोस्त को दिया है.अनुराग का सपना है कि वो भारत को पूरी दुनिया के ऐप मार्केट में अग्रणी स्थान दिलाए.

इससे पहले भी अनुराग भारत सरकार के good governance idea competition में अव्वल आ चुके हैं. कवालालंमपुर में आयोजित ग्लोबल entrepreneurship bootcamp में भी पूरी दुनिया से 200 चुनिंदा innovators में वो चयनित हो चुके हैं.अनुराग पेशे से एक इंजीनियर हैं. उन्होंने आईआईटी दिल्ली से एक्जीक्यूटिव एमबीए प्रोग्राम की पढ़ाई की है. फिलहाल, अनुराग दिल्ली में Fabrento कंपनी में CTO के पद पर कार्यरत हैं.