एफएसएसएआई की आडिट रिपोर्ट जारी: भोपाल दुग्ध संघ को ए-प्लस श्रेणी – 106 में से 100 अंक अर्जित

भोपाल | भोपाल सहकारी दुग्ध संघ यानि साँची दूध सहित अन्य उत्पाद गुणवत्ता सहित खाद्य सुरक्षा मानकों में मध्यप्रदेश में सर्वोत्तम और शुद्ध हैं। यह परिणाम है एफएसएसएआई द्वारा किए गए आडिट का। संघ के भोपाल स्थित प्लांट का आडिट करने के बाद संस्था ने भोपाल दुग्ध संघ को कुल 106 में से 100 अंक दिए हैं और इसे ए-प्लस केटेगरी का माना है।

उल्लेखनीय है कि संभागायुक्त श्री कवीन्द्र कियावत साँची उत्पादों की गुणवत्ता और शुद्धता को लेकर लगातार प्रयासरत थे और दुग्ध संग्रहण केन्द्र से लेकर प्लांट तक हर स्तर पर नजर रखी गई जिसके परिणाम स्वरूप एफएसएसएआईए की आडिट रिपोर्ट में दुग्ध संघ न केवल खरा उतरा है बल्कि प्रदेश में ए-प्लस श्रेणी का एकमात्र संघ होने की उपलब्धि अर्जित की है।

श्री कियावत ने इस शानदार उपलब्धि पर संघ के सभी अमले को बधाई दी है। उन्होंने पशुपालन विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री जे.एन. कंसोटिया के समय-समय पर दिए गए मार्गदर्शन के लिए धन्यवाद व्यक्त किया है। 20 सितम्बर को एफएसएसएआई की आडिट रिपोर्ट में 48 मापदंडों पर आडिट किए जाने का उल्लेख है।

इन बिन्दुओं के लिए कुल 106 अंक निर्धारित हैं। इन बिंदुओं में भोपाल दुग्ध संघ को 100 अंक अर्जित हुए हैं। इन मापदंडों में संघ के परिसर, अपनाई जाने वाली तकनीक, टैंकर की स्थिति, मशीनों की स्थिति, अमले की दक्षता, प्लांट की साफ-सफाई और रखरखाव, पैकेजिंग, दुग्ध संघ में दूध का संकलन, प्रोडक्शन और परिवहन जैसे 48 बिंदुओं को खाद्य सुरक्षा के मानकों के अनुरूप होने संबंधी आडिट किया जाता है।

उल्लेखनीय है कि संघ ने गत 6-7 माह में प्रत्येक टेंकर की जीपीएस मानीटरिंग एवं ट्रेकिंग कार्य नियमित जवाबदेह नियमित स्टॉफ के द्वारा निरंतर प्रारंभ किया है। गुणवत्ता परीक्षण, जीपीएस मॉनीटरिंग हेतु दुग्ध संघ के प्रशिक्षित नियमित स्टाफ के द्वारा ही किया जा रहा है और टैंकर सील की जाँच मिलेट्री सुरक्षा एजेंसी द्वारा करवाई जा रही है।

सील की जाँच रिकार्ड भी साधारण किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त सील संबंधी जानकारी ई.आर.पी. के अंतर्गत एमसीएमएस मॉडयूल में नियमित प्रविष्टि की जा रही है। प्रत्येक दुग्ध संग्रहण केन्द्र पर मिलावट की जाँच हेतु एडल्ट्रेशन जाँच किट एवं स्ट्रिप्स दी गई है।

दुग्ध संघ की प्रयोगशाला में अत्याधुनिक जाँच उपकरण मिल्को स्क्रीन स्थापित कर जाँच की जा रही है। टैंकर के साथ दुग्ध संघ के अधिकृत सेवाकर्मी समिति से मुख्य संयंत्र पर आ रहे एवं गुणवत्ता जाँच अपने समक्ष ही करवा रहे है।
दुग्ध संघ द्वारा दुग्ध परिवहन के दौरान चैकिंग बीएमसी समितियों के चेकिंग, शीन केन्द्रों के निरीक्षण हेतु संघ के अधिकारियों की 3 सदस्यीय टीम गठित की गई है जो नियमित औचक निरीक्षण कर रिपोर्ट तत्काल प्रस्तुत कर रही है।
श्री कियावत ने नागरिकों से आग्रह किया है कि वे भोपाल दुग्ध संघ के प्रदेश के सर्वाधिक शुद्ध उत्पादों को ही अपनाएं।