Ayurvedic Immunity Booster Kadha : कोरोना महामारी में घर पर बनाये ये काढ़ा
इस ख़बर को शेयर करें

Ayurvedic Immunity Booster Kadha: इस समय इम्यूनिटी बढ़ाने पर जोर देना काफी जरूरी है. हर किसी को अपने इम्यून सिस्टम को मजबूत (Strong Immune System) करना काफी जरूरी है। इलाज से बेहतर बचाव है। कोरोना वायरस महामारी के बारे में भी यही बात बिल्कुल सटीक बैठती है। कोरोना वायरस से बचाव के लिए अपनी प्रतिरोधक क्षमता मजबूत करना सबसे ज्यादा जरूरी है। आयुर्वेद में ऐसी कई चीजें बताई गई हैं, जो किसी जड़ी-बूटी की तरह काम करती है।

हम जिन मसालों का सब्जी बनाने में इस्तेमाल करते हैं, उनके इस्तेमाल का तरीका बदलकर हम उसे रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले काढ़े के रूप में कर सकते हैं। एक विशेष काढ़ा या जिसको हम चाय भी कह सकते है कि विधी सामग्री सहित पोस्ट कर रही हूँ।

यकीन मानिए ये घरेलू नुस्खा आजमाया हुआ और शत-प्रतिशत अनुभूत है। सर्दियों और बरसात के मौसम में लगभग हर व्यक्ति जुकाम, खांसी, कफ-बलगम इत्यदि मौसमी बीमारियों से संक्रमित हो ही जाता है,साथ ही बदन दर्द,सिरदर्द,बुखार और वायरल की चपेट में आ जाता है।

 

 

इम्यूनिटी बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय (Ayurvedic Remedies For Increase Immunity) काफी कारगर हो सकते हैं. स्ट्रॉन्ग इम्यूनिटी के लिए रोजाना आयुर्वेदिक कढ़े की एक घूंट भी फायदेमंद है। इस काढ़े के सेवन से निश्चित ही सर्दी,जुकाम,बहती नाक,खांसी,कफ बलगम और गले के इन्फेक्शन में आराम मिलता है साथ ही वायरल बुखार,बदन दर्द,सिर दर्द और तनाव से मुक्ति मिलती है।

सामग्री :

  • इलायची 10 ग्राम
  • लौंग 10 ग्राम
  • काली मिर्च 20 ग्राम 
  • अजवाइन 5० ग्राम 
  • सोंठ 5० ग्राम  
  • अस्वगंधा 50 ग्राम 
  • तुलसी के पत्ते 5 – 6
  • गुड़  10 Ltr  में 100 ग्राम
  • हल्दी पावडर 2 चम्मच
  • करायल ( कलौंजी ) छोटा चम्मच – 1/2
  • दालचीनी 50 ग्राम
  •  

विटामिन-सी और आयरन से भरी है तुलसी
तुलसी की पत्तियों में विटामिन और खनिज तत्व मौजूद होते हैं। इसमें मुख्य रूप से विटामिन सी, कैल्शियम, जिंक और आयरन आदि पाए जाते हैं। इससे गले और पेट के रोगों में आराम मिलता है।

काली मिर्च में पोषक तत्व
काली मिर्च में पैपरीन नामक तत्व पाया जाता है। यह तत्व औषधीय गुणों से भरपूर है। इसमें आयरन, पोटैशियम, मैग्नीशियम, मैंग्नीज, जिंक, क्रोमियम, विटामिन ए और अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं।

खांसी-जुकाम के लिए रामबाण है अदरक
अदरक में अनेक विटामिंस के साथ-साथ मैग्नीज और कॉपर भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं जो शरीर के लिए काफी फायदेमंद माने जाते हैं। अदरक को सर्दी-खांसी के लिए नेचुरल दवाई (Netural Medicine) के रूप में रामबाण माना जाता है।

इलायची के पोषक तत्व
पाचन क्रिया को मजबूत बनाने के लिए इलायची और दूध दोनों में फाइबर नामक पोषक तत्व पाया जाता है। फाइबर हमारे पाचन के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है।

कैसे बनाएं यह काढ़ा, पढ़ें सरल विधि :
सब पदार्थों को एक-एक करके इमाम दस्ते (खल बत्ते) में डालें और मोटा-मोटा कूटकर सबको मिलाकर किसी बरनी में भरकर रख लें। बस, तुलसी काढ़ा की सामग्री तैयार है। 2 कप चाय के लिए यह आधा छोटा चम्मच तुलसी का मिश्रण काफी है। एक पैन या कोई भी चाय बनाने वाले बर्तन में दो ग्लास पानी डालें। अब इसमें तुलसी, इलाइची पाउडर, काली मिर्च डाल दें।

अब इस मिक्सचर को मिला लें और इसे  1 Ltr पानी एक तपेली में डालकर गरम होने के लिए आग पर रख दें। जब पानी उबलने लगे तब तपेली नीचे उतार कर आधा छोटा चम्मच मिश्रण डालकर फौरन ढक्कन से ढंक दें। 15 मिनट तक उबाल लें। इसके बाद इसे ठंडा होने रख दें और छानकर पी लें। इसमें आप स्वाद के लिए गुड़ या नींबू का रस भी मिल सकते हैं।