बीएड प्रवेश परीक्षा शुरू: 73 जिलों के 1089 परीक्षा केंद्रों पर 4.3 लाख अभ्यर्थी होंगे शामिल

कोरोना संक्रमण के बीच रविवार को उत्तर प्रदेश के 73 जिलों में बीएड की संयुक्त प्रवेश परीक्षा-2020 हो रही है। परीक्षा के लिए प्रदेश में 14 नोडल केंद्र, चार उप नोडल केंद्र बनाए गए हैं। प्रदेश में 1089 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। कुल 431904 परीक्षार्थी शामिल होंगे। लेकिन परीक्षा केंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ाई गई। परीक्षा केंद्रों के बाहर और भीतर जाम की स्थिति बनी रही।

परीक्षा की राज्य समन्वयक प्रोफेसर अमिता बाजपेयी ने बताया कि कोरोना को देखते हुए अभ्यर्थियों, कक्ष निरीक्षकों और नोडल अधिकारियों की सुरक्षा के सभी प्रोटाकॉल एवं निर्देशों का सख्ती से पालन कराया जा रहा है। परीक्षा दो पालियों में हो रही है। पहली सुबह 9 बजे से 12 बजे तक और दूसरी 2 बजे से 5 बजे तक होगी। परीक्षा के लिए रविवार सुबह अभ्यर्थी एक घंटे पहले परीक्षा केंद्र पर पहुंच गए थे। हर एक केंद्र पर सीसीटीवी की व्यवस्था की गई है। लखनऊ विश्वविद्यालय में कंट्रोल रुम बनाया गया है। जहां से मॉनिटरिंग की जा रही है।

वहीं, वाराणसी जिले में 39600 परीक्षार्थियों के लिए 109 केंद्र बनाए गए हैं। बीएचयू में पहुंचे अभ्यर्थियों ने जमकर सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उडाईं। इतना ही नहीं कैंपस के अंदर जाम की स्थिति भी बनी रही। परीक्षा केंद्रों के आस-पास एसटीएफ और एलआईयू को सतर्क किया गया है। सभी परीक्षार्थियों को थर्मल स्कैनिंग के बाद परीक्षा केंद्र में प्रवेश दिया गया है। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि अभ्यर्थियों का परिचय पत्र ही वीकेंड में पास का काम करेगा।

परीक्षा केंद्र आसपास धारा 144 लागू रहेगी। 500 मीटर के दायरे में कोई भी फोटो स्टेट की दुकान नहीं खुलेगी। 218 पर्यवेक्षक परीक्षा सम्पन्न कराने को नियुक्त किए गए हैं। काशी विद्यापीठ और बीएचयू को नोडल केंद्र बनाया गया है। सभी क्लास रूम को सैनिटाइज किया गया है।