संतों से हस्तरेखा और मस्तक पढ़ने की कला सीखे पुलिस-गौर
भाेपाल । विवादित बयानबाजी करने वाले मध्यप्रदेश के गृहमंत्री बाबूलाल गौर ने पुलिस विभाग के अफसरों से कहा है कि, वे संतों से हस्तरेखा और मस्तक पढ़ने की कला जैसे गुर सीखें।
राजधानी भोपाल के पुलिस हेडक्वार्टर में आयोजित ऑल इंडिया कॉन्फ्रेंस ऑफ डायरेक्टर फिंगरप्रिंट ब्यूरो की कार्यशाला को संबोधित करते हुए गौर ने कहा कि अध्यात्मिक शक्ति संपन्न लोगों की एक बैठक बुलाई जानी चाहिए।
इस अवसर पर उन्होंने फिंगर प्रिंट एक्स्पर्ट्स से कहा कि, वे फिंगर प्रिंट का इस्तेमाल न केवल अपराधियों को पकड़ने के लिए करें, बल्कि कुछ ऐसा काम करें जिससे कि इस हस्तरेखा विज्ञान से आम आदमी को भी लाभ मिल सके।
बाबा रामदेव की तुलना विवेकानंद से
पुलिस अफसरों को संबोधित करते हुए गृहमंत्री बाबूलाल गौर आध्यात्मिक और ज्योतिषी शक्ति पर बात करते रहे। इसी अवसर पर उन्होंने बाबा रामदेव की तुलना स्वामी विवेकानंद से भी कर दी।
इस अवसर पर उन्होंने कहा कि घास-फूस और मिट्टी से दुनियाभर की बीमारियों को दूर करने वाले बाबा रामदेव के पास स्वामी विवेकानंद जैसी आध्यात्मिक शक्ति है। गौर ने रामदेव बाबा को लेकर यहां तक कह दिया कि, रामदेव साधारण बाबा तो हैं ही, पर करोड़ों का व्यापार कर रहे हैं।