बाबूलाल गौर का अपनी ही सरकार पर हमला, बोले-सरकार खुद बांट रही सड़ा गेहूं
भोपाल। कुछ
दिन पहले ही मंत्रिमंडल से हटाये गए पूर्व गृहमंत्री बाबूलाल गौर ने अपनी ही
पार्टी की सरकार पर हमला कर अपनी भड़ास निकालना शुरू कर दी है। उन्होंने राजधानी
भोपाल में बाढ़ पीड़ितों को मिट्टी वाला गेहूं बांटे जाने के मामले में विपक्ष के
सुर में सुर मिलाकर भाजपा की शिवराज सिंह सरकार को कटघरे में खड़ा कर दिया है।
उन्होंने सरकार पर सीधा हमला करते हुए कहा कि सरकार खुद सड़ा गेहूं बांट रही है,
जिससे लोग बीमार हो रहे हैं।
कुछ रोज पहले
ही मंत्री पद से हटाए गए विधायक बाबूलाल गौर ने विधानसभा में अपनी ही पार्टी की
सरकार पर सवाल खड़े कर दिए। सभा में मिट्टी मिला गेहूं बांटने पर कांग्रेस के हमले
झेल रही शिवराज सरकार पर बाबूलाल गौर ने भी सड़ा गेहूं बांटने का आरोप लगाया है।
बाबूलाल गौर
का कहना है कि सरकार बस्तियों में खराब गेहूं बांट रही है,
जिसे खाकर लोग बीमार हो रहे हैं। गौर ने दावा किया कि
उन्होंने खुद बस्तियों में जाकर स्थिति का जायजा लिया,
जिसमें लोगों को खराब गेहूं दिए जाने की बात सामने आई।

 

विधानसभा में
सडे गेहूं के मुददे पर सरकार की ओर से प्रवक्ता और संसदीय कार्यमंत्री नरोत्तम
मिश्रा ने जवाब देते हुए कहा कि बाढ़ पीड़ितों को मिट्टी मिले गेहूं के बंटने के मामले
की जांच कराई जाएगी।