सेवानिवृत्ति के प्रकरण समय मे भेजना सुनिश्चित करें – जिला पेंशन अधिकारी

#उमरिया | सिविल सेवा पेंशन नियम 1976 के अनुसार 1 जनवरी एवं 1 जुलाई की स्थिति में 24 माह में सेवानिवृत्त होने वाले शासकीय सेवको की सूची विभाग/ कार्यालय प्रमुख जारी कर उसकी एक प्रति पेंशन कार्यालय में भेजेंगे, किंतु आज दिनांक तक छः माह की सूची भी अप्राप्त है।

जिला पेंशन अधिकारी श्री विवेक कुमार धारू ने समय सीमा की बैठक में समस्त कार्यालय प्रमुखों से कहा है कि सेवानिवृत्ति होने वाले समस्त शासकीय सेवक के पेंशन प्रकरण सेवा निवृत्ति तिथि के छः माह पूर्व जिला पेंशन कार्यालय को अनिवार्य रूप से भेजे। इसके अभाव में संबंधित विभाग/ कार्यालय प्रमुख के विरूद्ध सिविल सेवा आचरण नियम 1965 के नियम 3 (ख) कर्तव्य में जानबूझकर लापरवाही मानते हुए कार्यवाही वरिष्ठ कार्यालय को मुख्य शास्ती से दण्डित किए जाने हेतु प्रस्तावित की जावेगी। साथ ही शासकीय सेवकों से किए जाने वाले अधिक भुगतान की वसूली/ समायोजन वित्त विभाग के आदेश दिनांक 31 मई 2011 एवं 31 मार्च 2016 के परिपालन में सुनिश्चित किए जाकर वेतन निर्धारण का संत्यापन एवं प्रकरण संपूर्ण अनिवार्य संलग्न/ दस्तावेज के परीक्षण पश्चात जिला पेंशन कार्यालय को प्रेशित करेगे। वसूली के समायोजन के बगैर यदि शासकीय सेवकों के अर्जित अवकाश नगदीकरण, बीमा सुरक्षा योजना, कर्मचारी भविष्य निधि आदि राशि का भुगतान यदि किसी विभाग या कार्यालय प्रमुख द्वारा किया जाना पाया गया तो उनसे वित्त विभाग के आदेशो के परिपालन में 15 प्रतिशत ब्याज के साथ राशि वसूल किया जाना प्रस्तावित किया जावेगा।