जल जनित बीमारियों के प्रति सतर्कता बरते

राजगढ़ | छात्र-छात्राओं को विद्यालयों में शुद्ध पेयजल उपलब्ध रहे। इस हेतु आवश्यकतानुसार नवीन जल स्त्रोत चिन्हित किए जाएं। वर्षाकाल में होने वाली जल जनित बीमारियों के प्रति स्वास्थ्य विभाग सतर्क रहे और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग पेयजल स्त्रोतों का शुद्धिकरण कराये। यह निर्देश आज समय-सीमा बैठक में कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा द्वारा दिए गए। इस अवसर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री प्रवीण सिंह, अपर कलेक्टर श्री राजेश जैन सहित विभिन्न विभागों के कार्यालय प्रमुख मौजूद रहे।

इस अवसर पर विभिन्न जिला अधिकारियों द्वारा स्कूलों और आंगनबाड़ी केन्द्रों के किए गए निरीक्षणों की समीक्षा के दौरान उन्होंने बिना स्वीकृति के आकस्मिक आवेदन ररखकर जाने वाले शिक्षकों का वेतन उस दिवस का वेतन काटने तथा निःशुल्क पुस्तक वितरण योजना में लापरवाही करने वाले शिक्षक और प्राचार्य की एक-एक वेतन वृद्धि रोकने के निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी एवं जिला परियोजना समन्वयक सर्वशिक्षा अभियान को दिए। उन्होंने शासकीय गांधी माध्यमिक शाला पचोर की फातिमा बी कुरैशी की एक वेतन वृद्धि एवं श्रृद्धा सक्सेना शासकीय माध्यमिक विद्यालय बरखेडा का एक दिवस का वेतन काटने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं जिला स्वास्थ्य अधिकारी को विद्यालयों में स्वास्थ्य परीक्षण कराए जाने हेतु कार्यक्रम एवं रोस्टर बनाए जाने के निर्देश भी दिए।

बैठक में कलेक्टर श्री शर्मा ने सी.एम. हेल्पलाइन के आवेदनों को एल-1, एल-2 स्तर पर ही निराकरण कराए जाने के निर्देश समस्त जिला अधिकारियों को दिए। उन्होंने मुख्यमंत्री स्वरोजगार एवं आर्थिक कल्याण योजना के प्रकरणों को बैकों से स्वीकृत एवं वितरण कराए जाने की समीक्षा के दौरान लक्ष्यों को तय समय-सीमा 31 जुलाई 2017 के पूरा करने के निर्देश भी दिए।