अब इलाहाबाद में अन्य जिलों से आने वाले प्रवेश मार्गों का होगा सौंदर्यीकरण

इलाहाबाद। कमिश्नर डॉ0 आशीष कुमार गोयल की अध्यक्षता में अर्द्धकुम्भ की बैठक उनके कार्यालय कक्ष में सम्पन्न हुयी। कमिश्नर ने आरओबी तथा आरयूबी के कार्यों को समय से पूर्ण करने हेतु सेतु निगम तथा लोनिवि के अधीक्षण अभियन्ताओं को निर्देशित किया। कमिश्नर ने कहा कि शिवकुटी, दारागंज तथा अन्य स्थानों पर बनने वाले आरयूबी के लिए रेलवे से कोआर्डिनेशन मीटिंग कर कार्य प्रारम्भ कर दिया जाय।

कमिश्नर ने प्रथम चरण के कार्य की स्वीकृति हो जाने के उपरान्त भी कार्य प्रारम्भ न करने पर सेतु निगम के अभियन्ताओं पर गहरी नाराजगी व्यक्त किया। उन्होंने सेतु निगम तथा लोनिवि के अभियन्ताओं को स्पष्ट शब्दों में कहा कि प्रत्येक दशा में अर्द्धकुम्भ से पूर्व आरओबी तथा आरयूबी का कार्य पूर्ण हो जाना चाहिए। इस कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नहीं होगी। उन्हांेने कहा कि अगर कहीं निर्माण कार्य प्रारम्भ करने में किसी प्रकार की कठिनाई आ रही हो तो उसे भी सम्बन्धित विभागों के साथ बैठकर दूर किया जाय।

कमिश्नर ने रेलवे अधिकारियों से कहा कि रेलवे इस कार्य में सहयोग करे तथा इण्टरशिफ्टिंग का कार्य भी प्रारम्भ कर दे। उन्होंने आरओबी तथा आरयूबी के कार्यों को शुरू करने के पूर्व विद्युत विभाग, जलकल, गंगा प्रदूषण, वन विभाग सहित संबंधित विभागों को संयुक्त रूप से शिफ्टिंग के कार्यों को पूर्ण करने का निर्देश दिया।

कमिश्नर ने कहा कि जिन स्थानों पर कोई अड़चन न हो वहां कार्य प्रारम्भ कर दिया जाय। उन्होंने एमएनआईटी के पास हुए अतिक्रमण को तत्काल खाली कराने का निर्देश दिया। उन्होंने लाउदर रोड, जानसेनगंज सहित अन्य स्थानों पर सर्विस रोड बनाने का निर्देश दिया।

उन्होंने लोनिवि, सेतु निगम, नगर निगम तथा इलाहाबाद विकास प्राधिकरण से गोविंदपुर, लाउदररोड, हाईकोर्ट पानी की टंकी, बेगम बाजार सहित अन्य स्थानों पर बने वाले आरओबी के कार्यों की समीक्षा किया। अर्द्धकुम्भ से पूर्व पांच सड़कों का चौड़ीकरण किया जायेगा, इन कार्यों का भी कमिश्नर ने समीक्षा किया।

कमिश्नर ने कहा कि लाउदर रोड, बेगम बाजार, गोविंदपुर, दारागंज सहित अन्य मार्गों का चौड़ीकरण किया जाय। उन्होंने कहा कि शहर के प्रवेश मार्गों को सुव्यवस्थित करने के साथ ही वहां के चौराहों का सौंदर्यीकरण किया जाय।
कमिश्नर ने कहा कि अर्द्धकुम्भ से पूर्व लखनऊ, कानपुर, सुल्तानपुर, वाराणसी, मध्य प्रदेश, मिर्जापुर तथा अन्य जिलों से आने वाले प्रवेश मार्गों का सौंदर्यीकरण करने के साथ ही साथ प्रकाश व्यवस्था भी सुदृढ़ किया जाय।

कमिश्नर ने अर्द्धकुम्भ से पूर्व प्रयाग स्टेशन, नूरूल्लाहरोड, धोबीघाट चौराहा, रामबाग चौराहा, जानसेनगंज, बैरहना सहित कई चौराहों का सौंदर्यीकरण करने का निर्देश दिया। उन्हांेने कनेक्टिंग मार्गों को भी दुरूस्त करने का निर्देश विकास प्राधिकरण तथा नगर निगम को दिया। कमिश्नर ने अंदावा तथा सहसों रोड के चौड़ीकरण के साथ ही वहां सफाई कार्य दुरूस्त करने का निर्देश दिया। उन्होंने सुझाव दिया कि इन मार्गों पर ग्रीन बेल्ट का भी विकास किया जा सकता है।

जिलाधिकारी संजय कुमार ने शास़्त्री ब्रिज की सफाई की जिम्मेदारी इलाहाबाद विकास प्राधिकरण को देते हुए प्रत्येक दिन उसकी सफाई कराने का निर्देश दिया। इसके साथ ही शास्त्री ब्रिज पर प्रकाश व्यवस्था को भी सुदृढ़ करने का निर्देश दिया।
उन्होंने कहा कि 9 माह बिजली का बिल विकास प्राधिकरण तथा 3 माह के बिजली का बिल मेला द्वारा दिया जायेगा।

जिलाधिकारी ने चौफटखा से लेकर एयरपोर्ट तक हुए अतिक्रमण को अभियान चलाकर एक सप्ताह में हटाने का निर्देश दिया और कहा कि उस मार्ग का चौड़ीकरण तथा सौंदर्यीकरण भी किया जाय। सड़के के किनारे लगे ट्रांसफार्मरों को भी शिफ्ट करने का निर्देश दिया। उन्हांेने ड्रेनेज सिस्टम तथा तथा लाइट के लिए अण्डग्राउण्ड वायरिंग करने को कहा।

आयुक्त इलाहाबाद मण्डल डॉ0 आशीष कुमार गोयल ने फाफामऊ ब्रिज से शांतिपुरम तक प्रकाश व्यवस्था को सुदृढ़ करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि बिजली के सारे पोलों को दुरूस्त करते हुए उन पर एलईडी लगाई जायें।

कमिश्नर ने प्रतापगढ़ मार्ग पर हाईमास्ट लाइट लगाने का निर्देश दिया। उन्होंने लेप्रेसी चौराहे से अरैली तक सौंदर्यीकरण करने के साथ ही अच्छी प्रकाश व्यवस्था का निर्देश दिया। कमिश्नर ने शहर के अंदर सिविल लाइन्स, कटरा, चौक तथा प्रयाग स्टेशन के मार्गों को भी दुरूस्त कर वहां भी सौंदर्यीकरण करने को कहा।

उन्होंने प्रमुख मार्गों पर बस शेल्टर, हाईमास्ट, त्रिवेणीपुष्प में सौंदर्यीकरण, खुसरोबाग के आधुनिकीकरण, सुदृढ़ीकरण व सौंदर्यीकरण का निर्देश दिया। उन्होंने यातायात की सुगमता के दृष्टिगत नगर के मुख्य मार्गों पर एलईडी की प्रकाश व्यवस्था सहित मुख्य मार्गों पर एलटी तथा एचटी लाइन के शिफ्टिंग का कार्य करने का निर्देश दिया। इस बैठक में जिलाधिकारी संजय कुमार, इलाहाबाद विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष, नगर आयुक्त, लोनिवि, सेतु निगम, विद्युत, जलकल के अभियन्ताओं सहित अन्य संबंधित अधिकारीगण उपस्थित थे।