भुट्टे के बाल की चाय के फयदे जानकर इसे फेकोगे नहीं बल्कि सम्भाल कर रखोगे

Sweet Corn Hair Tea : मकई के भुट्टे के बाल के कुछ अनोखे फयदे है जो आज हम आपको बताने जा रहे है | आज हम आपको मकई के भुट्टे के बालो के कुछ अनोखे फायदों के बारे में बताएगे | जिसे सुनने के बाद आप कभी भी मकई के भुट्टे के बाल कूड़ेदान में फेकोगे नहीं बल्कि सम्भाल कर रखोगे क्यूंकि यह आपको कई Health benefits प्रदान करते है | काॅर्न सिल्क जिसे भुट्टे के रेशे या भुट्टे के बाल के नाम से भी जाना जाता है।

भुट्टे के बाल काफी लंबे होते हैं। सामान्यतः भुट्टे को खाने के लिए उपयोग में लाते समय भुट्टे के बाल निकाल दिए जाते हैं लेकिन आपको बता दें कि भुट्टे के बालों का इस्तेमाल दवाई बनाने के लिए किया जाता है।  कई देशों जैसे चीन, फ्रांस और तुर्की आदि में इसका इस्तेमाल खूब किया जाता है। अधिकतर लोगों को इसके फायदों के बारे में पता नहीं होता है। आज इस लेख के जरिए हम आपको बताने जा रहे हैं कि भुट्टे के बाल किस तरह आपके स्वास्थ्य को लाभ पहुंचा सकते हैं।

भुट्टे के रेशों के हेल्थ बेनिफिट

  • यह बॉडी Toxins निकालकर किडनी को हेल्दी रखता है. किडनी स्टोन के खतरे से बचाता है
  • भुट्टे के रश से बना ड्रिंक फैट बर्निंग प्रोसेस को तेज करता है. इससे मोटापे से बचाव होता है
  • यह खून की नालियों में कोलेस्ट्रोल जमा होने से रोकता है. बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रोल लेवल कण्ट्रोल करता है
  • यह ब्लड में सुगर लेवल मेन्टेन रखता है. इसके कारण डायबिटीज से बचाव होता है
  • यह ड्रिंक शुगर और कोलेस्ट्रोल लेवल को कण्ट्रोल करता है, इससे हार्ट की समस्या से बचाव होता है
  • भुट्टे के रेशे और ड्रिंक में मौजूद फाइबर डाइजेशन बेहतर रखते है. पेट की बिमारियों से बचाव होता है

मूत्राशय और मूत्र मार्ग के लिए लाभकारी

यू.टी.आई ठीक करने के लिए काॅर्न सिल्क एंटी-इंफ्लेमेटरी एजेंट के रूप में काम करता है। यह मूत्र मार्ग की परत को कवर कर के जलन को रोकता है। भुट्टे के बाल की चाय पीने से मूत्राशय और मूत्र मार्ग की सूजन ठीक होती है। भुट्टे के बाल के सेवन से पेशाब आता है और मूत्र मार्ग में बैक्टीरिया बनने का जोखिम कम होता है। यह प्रोस्टेट ग्लैंड में आ रही दिक्कत को भी दूर करने में उपयोगी है।

किडनी में स्टोन के लिए उपयोगी

जब किडनी में छोटे-छोटे क्रिस्टल बनकर इकट्ठा हो जाते हैं तो वो पथरी का रूप ले लेते हैं। इनके जमाव के कारण तेज दर्द उठता है। प्राचीन काल से ही काॅर्न सिल्क का इस्तेमाल किडनी स्टोन से बचने के लिए किया जाता रहा है। काॅर्न सिल्क के सेवन से बार बार पेशाब आता है जिससे किडनी में स्टोन बनने का खतरा कम होता है। इस बात का ध्यान रखें कि काॅर्न सिल्क किडनी स्टोन से बचाता है ना कि उसका इलाज करता है।

बी.पी के लिए

जो लोग हाई बी.पी से परेशान हैं, उनके लिए काॅर्न सिल्क या भुट्टे का बाल लाभकारी साबित हो सकता है। जैसा कि पहले भी बताया गया है कि यह मूत्रवर्द्धक है और इसी वजह से यह बी.पी को कम करने में उपयोगी है। कोलेस्ट्रॉल हो कम कॉर्न सिल्क कोलेस्ट्रॉल को भी कम करता है। सावधानियांकॉर्न सिल्क का अधिक मात्रा में सेवन करना सुरक्षित नहीं है। इसी तरह डायबिटीज, हाई बी.पी, लो बी.पी के मरीज़ भी सीमित मात्रा में ही इसका सेवन करें।

 

 

मोटापे से छुटकारा आजकल मोटापा महामारी की तरह फैल रहा है। कुछ लोग आनुवांशिक तौर पर मोटे हैं तो कुछ लोग खराब जीवनशैली, असंतुलित आहार की वजह से मोटापे का शिकार हो रहे हैं। हर कोई वजन घटाने के लिए तरह-तरह के प्रयास कर रहा है। आपको बता दें कि काॅर्न सिल्क भी इस काम में आपकी मदद कर सकता है।

शरीर में  वॉटर रिटेंशन और विषाक्त  पदार्थों के जमने के कारण कुछ लोग मोटापे का शिकार हो जाते हैं। भुट्टे के बाल इन सब चीज़ों को शरीर से बाहर निकालता है। इस तरह वजन घटाने में भी मदद मिलती है। काॅर्न सिल्क से ज्यादा से ज्यादा लाभ पाने के लिए दिन में दो या तीन बार भुट्टे के बाल से बनी चाय पीएं। हालांकि, काॅर्न सिल्क मोटापे का इलाज नहीं करता है।

मकई या भुट्टा के नुकसान – Side Effects of Corn (Bhutta)

जहां भुट्टा के फायदे ढेरों हैं, वहीं मकई के नुकसान भी हैं। इस पर जरूर ध्यान देना चाहिए। मकई उच्च फाइबर का एक अच्छा स्रोत है। वहीं, फाइबर की अधिक मात्रा पेट में दर्द, पेट का फूलना और कब्ज जैसी समस्या को न्योता दे सकती है। इसलिए, विशेषज्ञ वयस्कों को प्रतिदिन 25 से 30 ग्राम तक ही फाइबर लेने की सलाह देते हैं ।

वहीं, कुछ मामलों में कॉर्न का अधिक उपयोग शरीर में पेलाग्रा (विटामिन बी-3 की कमी) पैदा कर सकता है । बता दें पेलाग्रा में दस्त, त्वचा रोग और भ्रम की स्थिति पैदा हो सकती है। मकई में पाया जाने वाला ग्लूटेन कई लोगों में स्किन एलर्जी का कारण भी बन सकता है ।

अब तो आप मकई या भुट्टा के उपयोग, मक्का खाने के फायदे और नुकसान के बारे में अच्छी तरह जान गए होंगे। साथ ही आपको इस बात की भी जानकारी हो गई होगी कि नुकसान से अधिक भुट्टा के फायदे हैं। कई गंभीर बीमारियों में इसका उपयोग न केवल लाभकारी है, बल्कि यह आपको दवाओं के बोझ से भी मुक्त कर सकता है। इसलिए, भुट्टे को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं।

ध्यान रहे, अधिक सेवन से मकई के नुकसान भी हैं। इसलिए, हमेशा इसका सेवन सीमित मात्रा में ही करें। उम्मीद है कि इस लेख के माध्यम से आपको कई गंभीर बीमारियों को कंट्रोल करने में मदद मिलेगी। इसलिए जब भी आपको मक्का खाने के दिल करे तो जरुर खाए.