गांजे को चूहों से बचाने पैकेट के पास रखते थे लड्डू
भोपाल । मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में क्राइम ब्रांच अधिकारियों ने साउथ की ट्रेनों में गांजे की तस्करी करने वाले दो अंतराज्यीय तस्करों को तो गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि आरोपी विशाखापट्टनम से भारी मात्रा में गांजे की खेप लेकर भोपाल आ रहे थे।
जानकारी के अनुसार, क्राइम ब्रांच पुलिस को मुखबिर से ट्रेन में गांजा लाए जाने की सूचना मिली थी। मुखबिर की सूचना पर क्राइम ब्रांच की टीम ने घेराबंदी कर भोपाल रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म से आरोपी राजू सूर्यवंशी और टिंकू शर्मा उर्फ विक्कू को धर दबोचा था। दोनों तस्करों के पास से करीब 41 किलो गांजा बरामद किया गया था।
पुलिस ने बताया है कि आरोपी राजू सूर्यवंशी अलीगढ़ यूपी में रहने वाले अपने साथी टिंकू शर्मा के साथ उड़ीसा और विशाखापट्टनम से गांजा लेकर आता था।
गैंग्स ऑफ वासेपुर फिल्म का था आईडिया
क्राइम ब्रांच ने जब तस्करों से पूछताछ की तो आरोपियों ने बताया कि नवाजुद्दीन सिद्दीकी की फिल्म गैंग्स ऑफ वासेपुर से तस्करी का आइडिया लिया था । जिसमें आरोपी ट्रेनों के बाथरूम की छत का नट खोलकर गांजे के पैकेट छुपाते थे।
चूहों के लिए रखते थे लड्डू
ट्रेन में लंबे सफर के दौरान कहीं गांजे काे न खा जाए इसलिए आरोपी गांजे के पैकेट के पास बेसन के लड्डू भी रखते थे। लड्डू गांजे की गंध को दबाने का काम करते थे।
क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने गांजे की तस्करी के तरीके को गंभीरता से लेते हुए रेलवे को भी जानकारी दी है। वहीं क्राइंम ब्राइंच का मानना है कि बताया जा रहा है कि तस्करों के के तार मध्यप्रदेश के साथ अन्य राज्यों से भी हो सकते हैं। वहीं क्राइम ब्रांच ने तस्करों से पूछताछ कर इस मामले से जुडे दूसरे आरोपियों की तलाश में जुट गई है।