यूपी : व्यापारियों को वैट में बड़ी राहत, अब इस डेट तक जवाब देने की मिली मोहलत

लखनऊ। राज्य सरकार ने लॉकडाउन से हुई असुविधा को देखते हुए व्यापारियों को वैट में बड़ी राहत दी है। व्यापारियों को वैट से जुड़े मामले में 31 अक्तूबर तक जवाब दाखिल करने की मोहलत दी गई है। अपर मुख्य सचिव राज्य कर आलोक कुमार सिन्हा ने सोमवार को इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है।

इसके मुताबिक उत्तर प्रदेश वैट अधिनियम के तहत अपील दाखिल करने और स्वत: कर निर्धारण की समय सीमा बढ़ा दी गई है, जिससे व्यापारियों को सुविधा मिल सके। वैट अधिनियम की धारा-27 में व्यापारियों को स्वत: रिटर्न दाखिल करने की सुविधा दी गई है। लॉकडाउन के चलते काफी व्यापारी रिटर्न दाखिल नहीं कर पाए हैं, इसलिए व्यापारियों को अब इसे 31 अक्तूबर तक दाखिल करने की सुविधा दी गई है।

इसी तरह धारा-32 के तहत वैट मामले में यदि व्यापारियों के खिलाफ कोई आदेश दाखिल हुआ है और वह लॉकडाउन के चलते निर्धारित समय सीमा 30 दिन के अंदर पुनर्विचार के लिए प्रार्थना पत्र दाखिल नहीं कर पाए हैं तो वो भी अब 31 अक्तूबर तक इसे दाखिल कर सकेंगे। धारा-31 में यदि वैट संबंधी जारी आदेश में कोई त्रुटि हो गई है तो इसे 31 अक्तूबर तक ठीक कराने के लिए प्रार्थना पत्र दिया जा सकेगा।