योगी सरकार का बड़ा फेरबदल, 20 IAS अफसरों पर गिरी तबादले की गाज़

लखनऊ। योगी सरकार ने बुधवार उत्तर प्रदेश की प्रशासनिक व्यवस्था में पहला बड़ा फेरबदल करते हुए 20 वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों के तबादले कर दिए हैं। इन वरिष्ठ अधिकारियों में पहला बड़ा नाम है नवनीत सहगल का. सूचना एवं पर्यटन विभाग और धर्मार्थ कार्य विभाग के प्रमुख सचिव, पर्यटन महानिदेशक और यूपीडी और यूपीएसए के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और अपरस्थानिक आयुक्त नई दिल्ली के पद पर तैनात रहे नवनीत कुमार सहगल को हटा दिया गया है। उनके सभी पदों का जिम्मेदारी अवनीश कुमार अवस्थी को दी गई है।

वहीं अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास और एनआरआई विभाग के प्रमुख सचिव और नोएडा अथॉरिटी के अध्यक्ष रमा रमण को भी हटाकर फिलहाल कोई तैनाती नहीं दी गई है। मेरठ के मण्डलायुक्त आलोक सिन्हा का तबादला करते हुए उन्हें रमण की सभी जिम्मेदारियां सौंपी गई है।

पिछली सरकारों में ताकतवर अधिकारी रहीं अनीता सिंह को नागरिक उड्डयन एवं राज्य संपत्ति विभाग के प्रमुख सचिव पद से जबकि डॉक्टर हरिओम को संस्कृति सचिव पद से हटाकर फिलहाल कोई तैनाती नहीं दी गई है। भूतत्व एवं खनिजकर्म विभाग के अपर मुख्य सचिव डॉक्टर गुरदीप सिंह को हटाकर वेटिंग लिस्ट में रखा गया है। राजस्व परिषद के सदस्य राज प्रताप सिंह को गुरदीप का प्रभार सौंपा गया है। वह राजस्व परिषद के सदस्य का जिम्मा अतिरिक्त प्रभार के रूप में उठाएंगे।

Subscribe My channel ► Khabar Junction

इसके अलावा हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग आयुक्त और केस्को के प्रबंध निदेशक रणवीर प्रसाद को वर्तमान पद के साथ उत्तर प्रदेश राज्य उद्योग विकास निगम एवं उत्तर प्रदेश लघु उद्योग निगम के प्रबन्ध निदेशक और उद्योग आयुक्त एवं निदेशक पद का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है।

आबकारी आयुक्त मृत्युंजय कुमार नारायण को मुख्यमंत्री का सचिव बनाया गया है। इसके अलावा वह नागरिक उड्डयन एवं राज्य संपत्ति विभाग के सचिव, संस्कृति विभाग के निदेशक और आबकारी आयुक्त का कामकाज अतिरिक्त प्रभार के रूप में संभालेंगे।

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के सचिव आमोद कुमार और आवास एवं शहरी नियोजन विभाग के सचिव पंधारी यादव को राजस्व परिषद इलाहाबाद का सदस्य नियुक्त किया गया है। नोएडा और ग्रेटर नोएडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी दीपक अग्रवाल और गाजियाबाद विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष विजय कुमार यादव को हटाकर फिलहाल कोई तैनाती नहीं दी गयी है। वहीं निवेश आयुक्त अमित मोहन प्रसाद को वर्तमान पद के साथ नोएडा और ग्रेटर नोएडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी पद का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है।