विश्व की वो ख़बरें जो बनी रहीं चर्चा में : WHO का बड़ा बयान वैक्सीन के बिना भी कोरोना वायरस पर काबू पाया जा सकता है
इस ख़बर को शेयर करें

विश्व की वो ख़बरें जो बनी रहीं चर्चा में

UAE ने इजरायल से रिश्ते सुधारने के लिए खत्म किया 48 साल पुराना कानून
यूएई के राष्ट्रपति शेख खलीफा बिन जायेद ने शनिवार इजरायल के साथ रिश्तों को सामन्य करने की दिशा में एक बड़ा फैसला लिया. यूएई ने साल 1972 में बना इजरायल के बहिष्कार का कानून खत्म कर दिया है जिसके मुताबिक दोनों देशों के बीच वित्तीय और वाणिज्यिक रिश्ते कायम नहीं हो सकते थे. दरअसल सोमवार को अमेरिकी और इजरायली प्रतिनिधिमंडल यूएई पहुंच रहा है. इससे ठीक 48 घंटे पहले ये फैसला आया है. ये प्रतिनिधिमंडल इजरायल की राजधानी तेल अवीव से यूएई की राजधानी अबू धाबी एक फ्लाइट से आएगी. ये पहला मौका होगा जब दोनों देशों के बीच फ्लाइट उड़ेगी.

दाऊद पर डोमिनिका सरकार की सफाई, कहा- हमने उसे नहीं दी नागरिकता
मुंबई धमाकों का मुख्य आरोपी और अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम कई सालों से फरार है. कभी उसके बीमार होने की खबर सामने आती है तो कभी उसके पाकिस्तान में छिपे होने की खबर. हाल ही में आई एक रिपोर्ट में कहा गया था कि दाऊद डोमिनिका का नागरिक बन गया है. इस मामले में अब वहां की सरकार ने सफाई दी है. साथ ही सभी मीडिया रिपोर्ट्स को खारिज किया है. डोमिनिका सरकार की ओर जारी अधिकारिक बयान में कहा गया कि दाऊद इब्राहिम कासकर न ही कभी डोमिनिका रिपब्लिक का नागरिक रहा है और न ही उसने इकनॉमिक सिटिजनशिप प्रोग्राम के तहत वहां का पासपोर्ट हासिल किया.

अब चीन की सफाई- हमने दूसरे देश की एक इंच जमीन पर भी कब्जा नहीं किया
भारत चीन सीमा विवाद के बीच चीनी विदेश मंत्रालय की तरफ से सफाई आई है. चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग का कहना है कि चीन ने न तो कभी किसी को उकसाया और न ही किसी देश की एक इंच जमीन पर कब्जा किया. उनका कहना है कि भारतीय फौज ने एलएसी पार की. बता दें 29-30 अगस्त की रात को चीनी सेना ने घुसपैठ की कोशिश की, जिसका जवाब देते हुए भारतीय सेना ने न सिर्फ न ब्लैक टॉप पोस्ट पर कब्जा जमाया, बल्कि चीनी सेना के कैमरे और सर्विलांस उपकरणों को हटा दिया है. दरअसल, चीनी सेना ने पैंगौंग झील के दक्षिणी किनारे पर स्थित ब्लैक टॉप पोस्ट पर कैमरा और सर्विलांस सिस्टम लगाया था.

वैक्सीन के बिना भी कोरोना वायरस पर काबू पाया जा सकता है: WHO

जहां एक तरफ दुनिया के तमाम देश कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने में जुटे हैं. वहीं वैक्सीन को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी WHO ने एक बड़ा बयान दिया है. WHO के यूरोप के निदेशक हैन्स क्लूग ने कहा है कि यूरोप और दुनिया के तमाम देश बिना वैक्सीन के भी कोविड-19 पर काबू पा सकते हैं, लेकिन उन्हें लोकल लेवल पर लॉकडाउन लगाने होंगे. हैन्स क्लूग ने स्काई न्यूज़ से बातचीत के दौरान कहा कि, जरूरी नहीं कि हम इस महामारी पर जीत वैक्सीन से ही हासिल करेंगे, लेकिन अगर हम महामारी के साथ रहना सीख लेंगे तो ज्यादा काबू पाया जा सकता है. और ऐसा तो हम कर ही सकते है.

अमेरिका खुद ही बनाएगा कोरोना वैक्सीन, WHO के साथ साझेदारी नहीं: ट्रंप
ट्रंप प्रशासन ने कहा है कि अमेरिका कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने के दुनियाभर में हो रही कोशिशों का हिस्सा नहीं बनेगा. ट्रंप प्रशासन ने कहा है कि वो अकेले ही वैक्सीन बनाएगा और उसे बेचेगा. अमेरिका ने ये फैसला WHO से बाहर जाने के फैसले के बाद लिया है. बता दें कि दुनियाभर में कई देश WHO के साथ मिलकर काम कर रहे हैं ताकि वैक्सीन बने और उनको आसानी से मिल भी जाए. इसमें 150 से ज्यादा देश हैं जो कोरोना वैक्सीन के लिए ग्लोबल एक्सेस फैसिलिटी के लिए काम कर रहे हैं.

भ्रष्टाचार मामले में 10 सितंबर तक सरेंडर करें नवाज़ शरीफ: पाक कोर्ट

मंगलवार को इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ को भ्रष्टाचार के मामले में सरेंडर करने का आदेश दिया है. इसके लिए उन्हें 10 सितंबर तक का समय दिया गया है. भ्रष्टाचार मामले में नवाज़ शरीफ दोषी पाए गए हैं, लेकिन पिछले साल नवंबर से ही वो लंदन में हैं. लाहौर हाई कोर्ट ने नवाज़ शरीफ को चार हफ्ते के लिए विदेश जाने की परमिशन दी थी, ताकि वो अपना इलाज करवा सकें. लेकिन वो तभी से ही वापस नहीं आए. बता दें कि 70 साल के नवाज़ शरीफ को अल-अज़ीज़िया स्टील मील मामले में सात साल की सजा हुई थी. इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ ने इस्लामाबाद हाई कोर्ट को आश्वासन दिया था कि वो जल्द ही देश वापस लौटेंगे. उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण लंदन में उनके इलाज में देरी हो रही है.