अमेठी के मैदान में बीजेपी का मास्टर स्ट्रोक

रविवार को कांग्रेस और समाजवादी पार्टी के बीच गठबंधन की खबर जहां सुर्खियों में थी, वहीं बीजेपी ने एक मास्टर स्ट्रोक चलकर सबको हैरान कर दिया। बीजेपी ने अमेठी जिले से रानी गरिमा सिंह को उम्मीदवार घोषित कर दिया, रानी बीजेपी के टिकट पर राजनीति में अपना डेब्यू करेंगी।

रानी गरिमा कांग्रेस प्रचार कमिटी के अध्यक्ष व राज्य सभा सांसद संजय सिंह की पत्नी हैं। हालांकि रानी राजनीति में काफी देर बाद अपनी किस्मत आजमाने उतर रहीं हैं, लेकिन राजनीति उनके खून में है। गरिमा सिंह पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह की भतीजी हैं और शाही परिवार से ताल्लुक रखती हैं। पति के दूसरी महिला से विवाह के बाद से उनके साथ अमेठी के स्थानीय लोगों का भरपूर समर्थन है।

कांग्रेस का गढ़ मानी जाने वाली अमेठी सीट से रानी की चुनावी दावेदारी के साथ कई जटिलताएं जुड़ी हैं। पारिवारिक झगड़े और जिले के राजनैतिक हालात के बीच इस सीट से जीत हासिल करना आसान नहीं होगा। लंबे समय तक अमेठी से बाहर रहने के बाद गरिमा जुलाई 2014 में परिवार के भूपति भवन लौटीं। अब तक दूसरी पत्नी अमीता से संजय सिंह के बच्चों और रानी गरिमा, उनके बेटे अनंत विक्रम, बेटियां महिमा और शैव्या परिवार पर कंट्रोल की लड़ाई लड़ रहे हैं।