61 लोगों को मदरसे में शिफ्ट करने के मामले को बीजेपी नेत्री ने की CM से शिकायत

रतलाम। अतिथि गार्डन में ठहराए 100 से ज्यादा लोग आज शिफ्ट किए जाएंगे, सैलाना रोड स्थित हीरा पैलेस होटल में गुरुवार को क्वारंटाइन किए 61 लोगों को शुक्रवार शाम प्रशासन ने खाचरौद स्थित आयशा सिद्दिकी मदरसा में शिफ्ट कर दिया है। शनिवार को अतिथि गार्डन में ठहराए 100 से ज्यादा लोगों को भी शिफ्ट किया जाएगा। भाजपा की पूर्व पार्षद और दबंद नेत्री सीमा टांक ने सीएम शिवराज सिंह से मोबाइल पर बात कर की शिकायत

इन तमाम लोगों को स्वास्थ्य और पुलिस विभाग ने बुधवार रात सुभाष नगर, वेदव्यास काॅलोनी, मोमिनपुरा, हाट की चौकी क्षेत्र से ढूंढ़कर होटल में क्वारंटाइन किया था। गुरुवार को हीरा पैलेस में रुके लोगों ने टूथब्रश, पेस्ट और साबुन के साथ चाय व नाश्ते की मांग करते हुए हंगामा किया था। होटल के आगे और पीछे गैलरी से खड़े होकर बाहर थूका था।

उधर अतिथि गार्डन में भी कमरों में रहने के बजाए लोग समूह के रूप में गलियारों में घूमते रहे। दोपहर को खाद्य सामग्री व उनके पैकेट फेंककर गंदगी फैलाई थी। पूर्व पार्षद सीमा टांक ने कलेक्टर को लिखित शिकायत करते हुए होटल में ठहराए लोगों को आबादी के बाहर शिफ्ट करने को कहा था।

होटल में ठहराए लोगों को दूसरी जगह भेजने से रहवासियों ने राहत की सांस ली है। शाम को शिफ्ट करने के दौरान लोगों ने घर से बाहर आकर ताली बजाकर प्रशासन को धन्यवाद दिया। पूर्व पार्षद सीमा टांक ने बताया यह बहुत जरूरी था। कोरोना महामारी तेजी से फैल रही है, ऐसे में संदिग्ध लोगों को रहवासी क्षेत्र की होटल में नहीं ठहराना चाहिए था।होटल से बस में ले जाकर लोगों को मदरसा में शिफ्ट किया।

4 अप्रैल को गुपचुप दफनाए गए कोरोना संक्रमित मोहम्मद कादरी के जनाजे में शामिल हुए थे या उसमें शामिल लोगों के संपर्क में आए थे। मामले में प्रशासन पहले ही जनाजे में शामिल हुए 29 लोगों पर प्रकरण दर्ज करने के साथ लोहार रोड को 14 दिन के लिए कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित कर चुका है।