इंदौर:-मेदांता हॉस्पिटल को मिली मंजूरी, अब इंदौर में भी होगा हार्ट ट्रांसप्लांट
इंदौर. अंगदान में प्रदेश के पहले और देश के चौथे शहर इंदौर में अब हार्ट ट्रांसप्लांट कर लोगों की जान बचाई जा सकेगी। एमजीएम मेडिकल कॉलेज के डीन की कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर कमिश्नर ने मेदांता हॉस्पिटल इंदौर को हार्ट ट्रांसप्लांट सेंटर के लिए उपयुक्त पाते हुए उसे कुछ शर्तों के साथ मंजूरी दे दी है। प्रदेश में यह पहला सेंटर होगा।
कमिश्नर संजय दुबे ने कहा कि संभव है कि जब शहर में अंगदान की स्थिति बने तो शहर में हार्ट ट्रांसप्लांट हो सकेगा। इसके लिए ग्रुप को मंजूरी दे दी है। इंदौर में लिवर ट्रांसप्लांट की भी मंजूरी जल्द मिलने की संभावना है। इसके लिए चोइथराम अस्पताल तैयारी कर रहा है। किडनी ट्रांसप्लांट इंदौर में कई वर्षों से हो रहा है।
प्रदेश का पहला हार्ट ट्रांसप्लांट सेंटर
हॉस्पिटल को इंदौर में हार्ट ट्रांसप्लांट सर्जरी करते समय गुड़गांव के अपने अस्पताल के विशेषज्ञ डॉक्टरों को यहां बुलाना होगा। उनकी उपस्थिति में यह सर्जरी हो सकेगी। इंदौर के स्थानीय डॉक्टर जब इस सर्जरी में माहिर हो जाएंगे, तब अस्पताल प्रबंधन को बाहर के सेंटर से डॉक्टर बुलाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।