सॉफ्टवेयर के माध्यम से जारी जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र वैध माने जायेंगे
भोपाल | आर्थिक एवं सांख्यिकी संचालनालय द्वारा जन्म-मृत्यु पंजीयन सॉफ्टवेयर के अंतर्गत जारी जन्म एवं मृत्यु प्रमाण पत्र की वैधता के संबंध में निर्देश जारी किये गये हैं। निर्देशों में कहा गया है कि भारत सरकार के द्वारा पूरे देश में जन्म-मृत्यु पंजीयन की घटनाओं के पंजीकरण के लिये कम्प्यूट्रीकृत जन्म-मृत्यु पंजीयन प्रणाली लागू की गयी है। इसके माध्यम से जारी किये जाने वाले जन्म एवं मृत्यु प्रमाण पत्रों का सत्यापन बेवसाइट एवं स्मार्ट के एप के द्वारा भी किया जा सकता है। इसलिये सॉफ्टवेयर के माध्यम से जारी जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र पूर्णतः वैधानिक दस्तावेज हैं जिसे शासकीय अथवा अशासकीय उपयोगों के लिये मान्य किया जाना चाहिये। इस संबंध में जिला रजिस्टार जन्म-मृत्यु एवं जिला योजना अधिकारी द्वारा जिले के सभी कार्यालय प्रमुखों को सूचित किया गया है।