नए लायसेंस बनवाएं खाद्य कारोबारी
जबलपुर |
उप संचालक खाद्य एवं औषधि प्रशासन ने खाद्य कारोबारों से
जुड़े व्यवसाईयों से अपेक्षा की है कि वे तत्काल एमपी ऑनलाइन से
लायसेंस/रजिस्ट्रेशन बनवाने की पहल करें। उन्होंने आगाह किया है कि जांच के दौरान
लायसेंस/रजिस्ट्रेशन नहीं पाए जाने पर जुर्माना और छ: माह की सजा का प्रावधान है।
 

 

    उप संचालक ने कहा है कि चार मई को भारतीय
खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण की ओर से लायसेंस रजिस्ट्रेशन में छूट की अवधि
समाप्त हो चुकी है। उप संचालक ने जिन खाद्य कारोबारी व्यवसाईयों को सचेत किया है
उनमें हॉकर, हाथ ठेले वाले, सब्जी वाले, फल वाले थोक एवं फुटकर विक्रेता,
दूध विक्रेता थोक एवं फुटकर दूध डेयरी वाले,
साइकिल या मोटर साइकिल से दूध बेचने वाले,
खाद्य सामग्री के निर्माता, आइसक्रीम, आइस कैण्डी, पैकेज्ड ड्रिंकिंग वाटर, अनाज थोक एवं फुटकर विक्रेता, किराना व्यवसायी, खाद्य एवं पेय पदार्थ विक्रेता,
होटल, रेस्टारेन्ट, ढ़ाबा, क्लब, कैन्टीन एवं वेयरहाउस, हॉस्टल संचालक, राशन दुकान एवं विभिन्न सेंटर शामिल हैं।