अपराध से सृजन की ओर बढ़ते कदम
भोपाल। केन्द्रीय जेल
उज्जैन परिसर में कैदियों के सृजनात्मक जेल उत्पादों को प्रदर्शित एवं विक्रय के
उददेश्य ”कान्हा” ब्रॉण्ड से केन्द्र खोला गया है। केन्द्र में अनेक कलात्मक
सामग्री की बिक्री की जा रही है। सिंहस्थ के मद्देनजर इस केन्द्र में सिंहस्थ
संबंधी अधिकाधिक वस्तुओं की प्रदर्शनी एवं स्टॉल लगाकर कैदियों के कौशल विकास का
सृजन किया जा रहा है।
केन्द्रीय जेल
उज्जैन के कैदियों ने सिंहस्थ 2016 में अपनी प्रतिभा एवं कौशल से सिर्फ मध्यप्रदेश
ही नहीं अपितु भारतीय कला की प्राचीन धरोहर को सँजोने में भी सराहनीय योगदान दिया
है।
भैरोगढ़
प्रिंट-विश्व प्रसिद्ध कला । इसी नाम से केन्द्रीय जेल उज्जैन का नाम भी भैरोगढ़
रखा गया है। केन्द्रीय जेल उज्जैन में 10 वर्ष से लुप्तप्राय भैरोगढ़ प्रिंट को जेल
अधीक्षक श्री गोपाल ताम्रकार के प्रयासों से पुनः चालू किया गया है।

सिंहस्थ के
लिए भैरोगढ़ जेल में ब्लॉक प्रिंट, बुटिक प्रिंट, स्क्रीन प्रिंट द्वारा शॉल, कुर्ते, झोले, धोती, मफलर, टी-शर्ट, टोपी, चादर, सलवार सूट, आदि तैयार किया जा रहा है। भैरोगढ़ उत्पाद को जेल उत्पाद
विक्रय केन्द्र में काफी प्रशंसा एवं सराहना मिल रही है। सिंहस्थ में आये देश-विदेश
के श्रद्धालु भैरोगढ़ प्रिंट के माध्यम से जेल के कैदियों की प्रतिभा से भी रू-ब-रू
हो रहे हैं।