ग्वालियर में प्रारंभ होगी व्ही.एल.सी.सी. अकादमी
खेल और युवा
कल्याण मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा कि व्ही.एल.सी.सी. अकादमी के
माध्यम से युवाओं को न केवल रोजगार के अच्छे अवसर मिल रहे हैं बल्कि वे अन्य
युवाओं के बेहतर भविष्य का निर्माण भी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही
ग्वालियर में भी यह अकादमी प्रारंभ की जायेगी। खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया आज
टी.टी. नगर स्टेडियम में अकादमी के दीक्षांत समारोह को संबोधित कर रही थीं।
 
इससे पहले अतिथियों
ने अकादमी के नव-निर्मित स्किन हेयर मेकअप लेब सहित अन्य कक्षों का लोकार्पण किया।
मुख्य अतिथि श्रीमती सिंधिया ने कॉस्मेटोलॉजी और न्यूट्रीशियन का डिप्लोमा करने
वाले इंदौर और भोपाल व्ही.एल.सी.सी. केन्द्र के 170 युवाओं को प्रमाण-पत्र प्रदान
किये।
 
श्रीमती
सिंधिया ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की मंशानुरूप खेल और युवा
कल्याण विभाग द्वारा संचालित अकादमी से 907 युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध
करवाये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि युवाओं को रोजगार के क्षेत्र में आगे बढ़ाने के
उद्देश्य से वर्ष 2007 में स्थापित यह अकादमी अब विशाल स्वरूप ले रही है। खेल
मंत्री ने अकादमी से डिप्लोमा लेकर उच्च मुकाम पाने वाले युवाओं की सराहना की।
 
विशिष्ट अतिथि
श्रीमती वन्दना लूथरा ने बताया कि देश के 52 शहर में 65 व्ही.एल.सी.सी. केन्द्र
संचालित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इंदौर और भोपाल केन्द्र के माध्यम से
युवाओं को रोजगार के अवसर दिलवाने के लिए खेल और युवा कल्याण विभाग के समन्वित
सहयोग से प्रभावी कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने बताया कि वे एक साधारण परिवार
में पली-बढ़ी हैं और कुछ नया करने के जुनून एवं सकारात्मक सोच से आज इस मुकाम पर
हैं। उन्होंने प्रदेश के युवाओं को स्व-रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाने में खेल
मंत्री श्रीमती सिंधिया के प्रयासों को सराहा।
 
संचालक खेल और
युवा कल्याण श्री उपेन्द्र जैन ने कहा कि युवाओं को उनकी रुचि के अनुसार प्रशिक्षण
और रोजगार दिलाने में अकादमी सार्थक सिद्ध हो रही है। युवाओं के कैरियर निर्माण
में सहायक बन रही इस अकादमी की स्थापना में खेल मंत्री का सराहनीय योगदान रहा है।
 
सपना हुआ
साकार
 

 

कार्यक्रम में
अकादमी से डिप्लोमा प्राप्त कर बेहतर केरियर हासिल करने वाले युवाओं ने अपने अनुभव
शेयर किये। युवाओं को खेल मंत्री द्वारा स्मृति-चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया
गया। इटारसी में स्वयं का पार्लर संचालित कर रही सुश्री मंजु सोनी ने बताया कि
अकादमी से मिले सहयोग से आज जिस मुकाम पर हूँ, उसकी मैंने कल्पना भी नहीं की थी। उनके पार्लर में चार
युवाओं को भी रोजगार मिला है। इन्दौर की मिताली नामदेव और भोपाल में डायटीशियन
सुश्री सरिता साहू ने बताया कि अकादमी से उनका सपना साकार हुआ है। खरगोन के कपिल
सेन और इंदौर के संदीप बैस आदि ने भी अपनी सफलता की कहानी सुनाई।