सिहोरा : मझगवां में बैकुंठ बिहार स्कूल के संचालक की फंदे में लटकी मिली लाश, तार से बंधे दोनो हाथ पूरे मामले को बता रहे संदिग्ध

Tags:
इस ख़बर को शेयर करें:

सिहोरा। मझगवां के बैकुंठ विहार स्कूल के संचालक की लाश मंगलवार को स्कूल के बरामदे में फांसी के फंदे से लटकी मिलने से सनसनी फैल गई। मृतक के दोनों हाथ पीछे से तार से बंधे बंधी थी जिससे पूरा मामला संदिग्ध नजर आ रहा था। पुलिस ने मृतक के पास से अलग-अलग लिफाफे में सुसाइड नोट बरामद किए। जिसमें आत्महत्या का कारण स्पष्ट समझ में नहीं आ रहा। मामला संदिग्ध होने पर फॉरेंसिक टीम मौके पर पहुंची और घटनास्थल से आवश्यक नमूने लिए। फिलहाल पुलिस मृतक के पास मिले सुसाइड नोट की जांच में लगी है।

पुलिस से हासिल जानकारी के मुताबिक 52 वर्षीय हेमेंद्र कुमार पाठक निवासी सरोली मझगवां में बैकुंठ बिहार स्कूल के संचालक थे। सुबह करीब 9:00 बजे के लगभग वे अपने घर से स्कूल पहुंचे। उस समय स्कूल में कोई नहीं था संदिग्ध हालत में फांसी पर लटका हुआ देखा। यह नजारा देखकर स्कूल का स्टाफ अवाक रह गया उन्होंने तुरंत इसकी सूचना मझगवां पुलिस को दी।

तार से बंधे थे दोनों हाथ मामले को बना रहे संदिग्ध

घटना की जानकारी लगते ही मझगवां पुलिस मौके पर पहुंची देखते ही देखते स्कूल प्रांगण में लोगों की भारी भीड़ मौके पर जमा हो गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने देखा कि स्कूल संचालक के दोनों हाथ तार से पीछे बंधे हुए थे जिससे पूरी घटना संदिग्ध लग रही थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने एसएफएल टीम को मौके पर बुलाया।

मृतक की जेब से निकले अलग-अलग सुसाइड नोट पीछे छोड़ गए कई सवाल
मौके पर पहुंची एसएफएल की टीम ने घटनास्थल से जांच के लिए आवश्यक नमूने एकत्र किए। मृतक के परिवार के लोग भी मौके पर पहुंच गए उनकी मौत की खबर लगते ही परिवार के लोगों के आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे थे उन्हें विश्वास नहीं हो रहा था कि आखिर हेमेंद्र कुमार ने ऐसा कदम क्यों उठाया। जांच के दौरान पुलिस को मृतक हेमेंद्र के जेब से चार अलग-अलग सुसाइड नोट मिले।

सुसाइड नोट मौत का वास्तविक कारण सामने नहीं आया है जिससे पूरा मामला उलझता ही जा रहा है। सुसाइड नोट परिवार के नाम पुलिस के नाम शिक्षा विभाग के नाम और व्यक्तिगत तौर पर लिखे गए लेकिन इसमें कोई भी बात स्पष्ट तौर पर नहीं लिखी गई है जिससे पूरा मामला उलझता ही जा रहा है।

सुसाइड नोट की जांच करवाएगी पुलिस फिलहाल मृतक की जेब से मिले सुसाइड नोट ओं की जांच राइटिंग एक्सपर्ट से करवाने की तैयारी पुलिस ने कर ली है। सुसाइड नोट की जांच के बाद ही पता चल सकेगा। फिलहाल हेमेंद्र पाठक की आत्महत्या को लेकर क्षेत्र में यह चर्चा है कि आखिर उन्होंने ऐसा कदम क्यों उठाया।

इनका कहना
मृतक के दोनों हाथ तार से बंधे मिले थे, जिसको लेकर एफएसएल की टीम को मौके पर बुलाया गया था। मृतक की जेब से सुसाइड नोट मिले हैं फिलहाल उसकी राइटिंग एक्सपर्ट से जांच कराई जा रही है मर्ग कायम कर मामले को जांच में लिया गया है।
श्रुतकीर्ति सोमवंशी,SDOP सिहोरा