बरेला में हुई अंधी हत्या का खुलासा, 2 आरोपी गिरफ्तार

पहले शराब पिलाई, फिर खेत में ले जा कर पासे मांगे, नहीं दिए तो पत्थर से सर कुचल कर मार डाला 

जबलपुर @ थाना खमरिया अंतर्गत ग्राम पिपरिया के ग्राम कोटवार शिवशंकर झारिया को 20 फरवरी को प्रातः 8 साढ़े 30 बजे ने सूचना दी कि दिनॉक 20 फरवरी को गॉव मे ग्राम सभा थी, जिसकी मुनादी कर रहा था, सुबह लगभग 8 बजे गॉव का विजय सोनी आया और बताया कि अपने गॉव से इंद्रा पिपरिया रोड किनारे पीपल के पेड के पास एक व्यक्ति की लाश पडी है, लाश पहचान मे नहीं आ रही है, विजय सोनी के बताने पर वह गॉव के भैरव चक्रवर्ती के साथ पीपल के पेड के पास जाकर देखा, पेड के सामने की तरफ रोड किनारे अशोक दीक्षित जबलपुर वालो के खेत में एक अज्ञात व्यक्ति का शव रोड से लगभग 20-25 फुट अंदर खेत मे पडा था, अज्ञात मृतक पहचान मे नहीं आ रहा है, ।

बदन पर काले रंग के जूता मोजा, काला फुलपैंट, स्वेटर उनी फुल मटमैले सफेद रंग की, आसमानी धारीदार शर्ट पहने हुये है, सिर एवं चेहरे पर चोट है, खून बहा है। किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा मारपीट कर पत्थर पटक कर सिर एंव माथे मे गम्भीर चोट पहुॅचाते हुये हत्या की गयी है। पास ही एक पत्थर भी पडा हुआ है जिसमे खून लगा हुआ है।

घटित हुई घटना की सूचना पर थाना प्रभारी बरेला एच आर पाण्डे, नपुअ कैंट एम.पी. प्रजापति, एफएसएल टीम मौके पर पहुॅची घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण करते हुये पंचनामा कार्यवाही कर अज्ञात मृतक के शव को पीएम हेतु भिजवाते हुये अज्ञात आरोपी के विरूद्ध धारा 302 भादवि का अपराध पजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना में लिया गया।

पुलिस अधीक्षक जबलपुर डॉ महेन्द्र ंिसह सिकरवार ने घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये वरिष्ठ स्तर पर अनुसंधान के लिये आदेशित किया गया। अति. पुलिस अधीक्षक शहर (उत्तर ) संजीव उइके के पर्यवेक्षण में प्रकरण की विवेचना हेतु विशेष टीम गठित की गयी। नगर पुलिस अधीक्षक केैंंट एम.पी. प्रजापति के नेतृत्व में गठित विशेष टीम में थाना प्रभारी बरेला एच. आर पाण्डे के हमराह उप निरीक्षक मोह. समीर खान, सउनि शिवराम पटेल , आरक्षक जागेश्वर, गजेन्द्र डांगी, सुनील कंगाले, हरिराम जंगेला, महिला आरक्षक सुधा शर्मा की टीम द्वारा जांच की गयी।

अज्ञात मृतक की शिनाख्तगी के प्रयास हेतु जिले के समस्त थानो को वायरलैस सेैट के द्वारा मैसिज किया गया एवं फोटो भेजे गये, साथ ही प्रिंट/इलेक्ट्रानिक मीडिया के माध्यम से भी अज्ञात मृतक की शिनाख्तगी के प्रयास किये गये, तथा आसपास के गॉवों में टीम के द्वारा अज्ञात मृतक की शिनाख्तगी के प्रयास हेतु ग्रामीणजनों से पूछताछ की गयी।

मृतक की शिनाख्तगी के प्रयास के दौरान रांझी थाना प्रभारी द्वारा दिनॉक २१ फरवरी की रात्रि में बताया गया कि एक व्यक्ति भरत लाल भूमिया जिसकी उम्र लगभग 52 वर्ष है, जो बंजरंग नगर रांझी मे रहता हैै एवं मेडिकल स्टोर मस्ताना चौक रांझी में काम करता है, दिनॉक १९ फरवरी से गायब है, जिसके परिजनों द्वारा थाना रांझी में दिनॉक 20 फरवरी को देर रात्रि गुमशुदगी दर्ज करायी गयी है। यह जानकारी लगतें ही गुमशुदा भरत लाल भूमिया के घर रांझी पहुॅचकर परिजनों से सम्पर्क कर मृतक की फोटो दिखाई गयी जिन्होंने अज्ञात मृतक की पहचान भरत लाल भूमिया के रूप में की गयी।

पुलिस अधीक्षक के आदेशानुसार सभी शराब दुकानों एंव आहातों तथा बारों में सीसी टीव्ही कैमरे लगवाये गये है, दौरान विवेचना के रांझी, घमापुर, खमरिया क्षेत्र मे लगे सभी सीसी टीव्ही कैमरो को खंगाला गया जिसमे खमरिया क्षेत्रांतर्गत ग्राम पिपरिया स्थित देशी शराब दुकान में लगे सीसीटीव्ही कैमरे के साथ दो लोग दिखे, जिनके सम्बंध में पतासाजी की गयी तो एक का नाम विनोद बेन एंव एक का नाम संदीप बाजपेई ज्ञात हुआ जिनके सम्बंध में थाना रांझी से पतासाजी की तो थाना रांझी से ज्ञात हुआ कि बजरंग नगर रांझी निवासी विनोद बेन अपराधी प्रवृत्ति का है जिसकें विरूद्ध लगभग 1 दर्जन अपराध पजीबद्ध होकर न्यायालय में विचाराधीन है।

यह जानकारी लगते ही विनोद बेन उम्र 28 वर्ष निवासी बंजरंग नगर रांझी को सरगर्मी से तलाश कर अभिरक्षा में लेते हुये सघन पूछताछ की गयी तो विनोद बेन ने अपने साथी संदीप बाजपेई उम्र 37 वर्ष निवासी बडा पत्थर रांझी, के साथ मिलकर दिनॉक 19 फरवरी को योजनाबद्ध तरीके से भरत लाल भूमिया को बडा पत्थर रांझी से साथ में ले जाकर हत्या करना स्वीकार किया। उक्त अंधी हत्या के पर्दाफाश होते ही आरोपी विनोद बेन पिता रामसेवक बेन उम्र 28 वर्ष निवासी बजरंग नगर रांझी व संदीप बाजपेई पिता सुधीर बाजपेई उम्र 37 वर्ष निवासी बडा पत्थर रांझी गिरफ्तार कर लिया गया है।

इस प्रकार दिया घटना को अंजाम

पूछताछ पर पाया गया कि योजनानुसार दिनॉक 19 फरवरी को दोपहर लगभग 3 बजे जब भरत लाल भूमिया मेडिकल स्टोर से छूटकर मोटर सायकिल से अपने घर जा रहा था, किशन होटल के पास भरत लाल भूमिया को विनोद ने रोका एवं बोला कि पिपरिया पैसे लेने चलना है, साथ चलो, और अपने साथी संदीप बाजपेई के साथ भरत लाल भूमिया की मोटर सायकिल मे बैठकर तीनों पिपरिया देशी कलारी पहुॅचे जहॉ योजनानुसार भरत लाल को अधिक शराब पिलाई , जब भरत लाल भूमिया नशे में हो गया तो भरत लाल भूमिया को मोंटर सायकिल मे बीच मे बेैठाकर ग्राम पडरिया होते हुये शाम लगभग 5 बजे पडवार से इंद्रा पिपरिया रोड पहुचे, और भरत लाल भूमिया से 5 हजार रूपये मांगने लगे, भरत लाल भूमिया ने रूपये देने मे असमर्थता जाहिर की तो विनोद एंव संदीप बाजपेई ने हाथ घूसो से भरत लाल भूमिया के साथ मारपीट की एवं रोड से घसीट कर रोड से अंदर खेत की ओर ले गये, एवं सिर पर पत्थर पटक कर हत्या कर मृतक की जेब से पर्स जिसमें साढे चार हजार रूपये नगद, आधार कार्ड, गाडी का रजिस्ट्रेशन कार्ड, रख था एवं मोबाईल, निकालकर मृतक की मोटर सायकिल से जबलपुर की ओर भाग आये, आरोपी विनोद बेन एवं संदीप बाजपेई की निशादेही पर मृतक से निकाले हुये रूपयो में से 1800 रूपये, आधार कार्ड, गाडी का रजिस्ट्रेशन कार्ड एवं मोबाईल जप्त करते हुये मृतक की मोटर सायकिल जिसकों खमरिया के जंगल में घटना के बाद खडी करना बता रहे है, की बरामदगी के प्रयास जारी है। दौरान विवेचना के प्रकरण में धारा 397 भादवि भी बढाई गयी है।

ये होंगे पुरस्कृत  

उक्त अंधी हत्या के पर्दाफाश एवं आरोपियों की गिरफ्तारी में नगर पुलिस अधीक्षक केैंंट एम.पी. प्रजापति के नेतृत्व में गठित विशेष टीम में थाना प्रभारी बरेला श्री एच. आर पाण्डे के हमराह उप निरीक्षक मोह. समीर खान, सउनि शिवराम पटेल, आरक्षक जागेश्वर, गजेन्द्र डांगी, सुनील कंगाले, हरिराम जंगेला, महिला आरक्षक सुधा शर्मा की सराहनीय भूमिका रही। पुलिस अधीक्षक डॉ. महेन्द्र सिंह सिकरवार ने टीम को 5 हजार रूपये के नगद पुरूस्कार से पुरूस्कृत करने की घोषणा की है।